International

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट पर चीनी मीडिया का तीखा प्रहार

डोनाल्ड ट्रंप

नई दिल्ली। चीनी मीडिया ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के मुद्दे पर एक ट्वीट किया था कि चीन उत्तर कोरिया के मसले पर कुछ नहीं कर रहा है। उत्तर कोरिया ने कुछ ही दिन पहले इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल का परीक्षण किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसी संदर्भ में ट्वीट किया था।





चीनी मीडिया का मानना है कि सिर्फ ट्वीट कर देने से कुछ नहीं होगा। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने जवाब देते हुए लिखा है कि चीन ने प्योंगयांग पर न्यूक्लियर और मिसाइल गतिविधियों को लेकर जबरदस्त दबाव बनाया हुआ है। चीन द्वारा उठाये गये कदमों का हवाला देते हुए अखबार ने लिखा है कि संयुक्त राष्ट्र के प्रावधानों को लागू कराने के लिए भी चीन ने बेहद मेहनत की है। उत्तर कोरिया पर कोयले के आयात पर बैन लगाया है। पाबंदियों की वजह से चीन-उत्तर कोरिया के संबंधों में ठहराव आ गया है। अखबार का कहना है कि उत्तर कोरिया के साथ व्यापारिक संबंधों में चीन को सबसे ज्यादा कीमत चुकानी पड़ी है।

गौरतलब है कि ट्रंप ने अपने ट्वीट में यह भी कहा कि हमारे पिछले नेताओं ने व्यापार में चीन को छूट दी लेकिन उत्तर कोरिया के संदर्भ में उसने अमेरिका के लिए कुछ भी नहीं किया।

ग्लोबल टाइम्स के अनुसार, ट्रंप का ये कहना कि चीन इस समस्या को आसानी से हल कर सकता है, ये बताता है कि ऐसा बयान सिर्फ नया अमेरिकी राष्ट्रपति ही दे सकता है, जिसे उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम के बारे में कुछ खास मालूम नहीं है। प्योंगयांग न्यूक्लियर और मिसाइल कार्यक्रम को विकसित करने के लिए दृढ़ है। अमेरिका-चीन की सैन्य धमकियों से उस पर कोई फर्क नहीं पड़ता। अखबार ने सवाल किया है कि इस स्थिति में चीन के प्रतिबंधों से उस पर क्या असर पड़ेगा ?

Comments

Most Popular

To Top