International

ब्रिक्स में आतंकवाद पर बात नहीं : चीन

पीएम मोदी और जिनपिंग

नई दिल्ली। ब्रिक्स देशों की सालाना बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होने के लिए चीन जाने वाले हैं। बैठक में जाने से पहले चीन ने इशारों-इशारों में पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद को बढ़ावा देने का मुद्दा ना उठाने की सलाह दी है। पहले भी कई मौकों पर चीन ने अपने अजीज दोस्त पाकिस्तान का बचाव किया और उसके आतंकवाद से लड़ने के प्रयासों की प्रशंसा की।





चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनिंग ने गुरुवार को मीडिया से कहा, हमने ध्यान दिया है कि भारत की पाकिस्तान के आतंकवाद निरोधक कार्यक्रम को लेकर कुछ चिंताएं हैं। हमें नहीं लगता कि ब्रिक्स बैठक में चर्चा करने के लिए ये सही विषय है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन में 3-5 सितंबर तक होने वाली मीटिंग में शामिल होने वाले हैं। पीएम मोदी ने पिछले साल गोवा में हुई ब्रिक्स बैठक में पाकिस्तान को आतंकवाद का जनक बताया था।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ये भी संकेत दिया कि ब्रिक्स देशों की बैठक में भारत द्वारा पाकिस्तान का मुद्दा उठाने से सम्मेलन विफल हो सकता है क्योंकि पाकिस्तान पर सवाल किए जाने पर उसका दोस्त चीन बचाव में उतर आएगा। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया कि नजरें इस बैठक पर हैं और इसमें शामिल सभी पक्षों को इसकी सफलता सुनिश्चित करनी चाहिए।

ब्रिक्स सम्मेलन 3 सितंबर को चीन के शियामेन में शुरू होगा। चुनिंग ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ प्रयासों में सबसे आगे है और उसने इसके लिए बलिदान दिया है। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को पाकिस्तान द्वारा किए गए योगदान व बलिदान को मान्यता देनी चाहिए।

 

Comments

Most Popular

To Top