International

सैन्य अभ्यास : चीन-पाकिस्तान की भारत को घेरने की तैयारी

china navy

नई दिल्ली। एक तरफ पाकिस्तान कश्मीर में लगातार आतंकवाद को हवा दे रहा है वहीं भारत सीमा पर अपनी पहुँच बढ़ाने वाला चीन भी भारत के लिए चुनौती बन रहा है। चीन पाकिस्तान के साथ मिलकर लगातार हिन्द महासागर के जरिए भारत तक अपनी पहुँच बनाने की कोशिश कर रहा है। चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) द्वारा जारी बयान के मुताबिक, दोनों देशों की नौसेनाओं ने अरब सागर में संयुक्त सैन्य अभ्यास किया। चीन का एक जंगी बड़ा चार दिवसीय दौरे पर शनिवार को पाकिस्तान के कराची बंदरगाह पहुंचा था।





कराची व ग्वादर बंदरगाह पहुंचा चीन नौसेना बेड़ा

संयुक्त सैन्य अभ्यास

चीन और पाकिस्तान नौसेनाओं ने अरब सागर में एक संयुक्त सैन्य अभ्यास किया

चीन के स्थानीय समयानुसार 13 जून को सुबह नौ बजकर 15 मिनट पर चीनी नौसेना का बेड़ा पाकिस्तान पहुंचा था। कराची बंदरगाह से रवाना होने के बाद दोनों देशों की नौसेना ने उत्तरी अरब सागर में समुद्री संयुक्त सैन्याभ्यास किया। सैन्य अभ्यास में यात्रा के दौरान आपूर्ति देना, घेरा बनाकर कार्रवाई करना, संयुक्त रूप से जहाजों की रक्षा करना और संयुक्त रूप से हवाई सुरक्षा करना आदि का अभ्यास किया। यह संयुक्त सैन्य अभ्यास लगभग पांच घंटे तक चला। बेड़े के कमांडर शन हाओ ने चीन के अखबारों को दिए बयान में कहा है कि इस बार के संयुक्त सैन्याभ्यास से दोनों पक्षों ने एक दूसरे से सीखा, अभ्यास किया और दोनों नौसेनाओं ने आपसी विश्वास व सहयोग मजबूत किया है।

भारत के लिए खतरा बन रहा है चीन

पिछले कुछ सालों में चीन की ओर से हिन्द महासागर में दखल बढ़ा रहा है और अब उसे पाकिस्तान का साथ मिल गया है। यही कारण है कि चीन के जंगी बेड़े अथवा पनडुब्बियां लगातार कराची और ग्वादर बंदरगाह से आवाजाही कर रहे हैं। कराची बंदरगाह भारत के काफी करीब है। हालांकि, इस अभ्यास को आपसी विश्वास और सौहार्द का अभ्यास बताया जा रहा है, लेकिन भारत इसे भविष्य के बड़े खतरे के रूप में देख रहा है।

Comments

Most Popular

To Top