International

‘बगैर सबूत के किसी को मृत घोषित करना पाप है’

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली। केन्द्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को लोकसभा में कहा कि इराक में लापता 39 भारतीयों के मारे या जिंदा होने का कोई पुख्ता सबूत नहीं है। उन्होंने कहा कि बगैर सबूत के किसी को मृत घोषित करने का पाप वह अपने सिर नहीं लेंगी। मोसुल में लापता 39 भारतीयों के बारे में विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए विदेश मंत्री ने कहा कि उन्होंने (सुषमा स्वराज) कभी नहीं कहा कि वे लोग मारे गये या वे लोग जिंदा हैं। उन्होंने कहा कि उन पर भ्रमित करने का आरोप लगाना गलत है। उन्होंने जो कुछ भी किया सदन को विश्वास में लेकर और सदन की अनुमति से किया। विपक्ष ने आरोप लगाया था कि इस मामले में संसद को भ्रमित कर रही हैं।





लापता भारतीयों के परिजन

इराक में लापता 39 भारतीय के परिजनों के साथ विदेश मंत्री (फाइल फोटो)

विदेश मंत्री ने कहा कि लापता भारतीयों को ढूंढना सरकार का फर्ज है। सरकार उन्हें ढूंढने का काम तब तक बंद नहीं करेगी, जब तक कि उनके जिंदा न होने का कोई सबूत नहीं मिल जाता। उन्होंने कहा, जो कह रहे हैं कि लापता भारतीयों के बारे में सच छुपाया जा रहा है वे गलत हैं। उन्होंने कहा, मैंने कभी गुमराह नहीं किया। मैं विपक्ष से पूछना चाहती हूं कि इस मुद्दे पर गुमराह करने से मुझे क्या फायदा होगा, मेरी सरकार को क्या फायदा होगा।

क्या है मामला ?

तीन साल पहले 2014 में मोसूल से 39 भारतीयों का आईएसआईएस ने  अपहरण कर लिया था। तभी से इन भारतीयों का कोई अता-पता नहीं है। लापता भारतीयों में से ज्यादातर पंजाब से हैं।

Comments

Most Popular

To Top