International

जाधव केस : ISI के पूर्व अफसर ने खोली पाकिस्तान की पोल

कुलभूषण जाधव

नई दिल्ली। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI (आईएसआई) के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल अमजद शोएब का कहना है कि पूर्व नौसेना अधिकारी और भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की सीमा के भीतर नहीं, बल्कि ईरान से अगवा किया गया है। शोएब के मुताबिक पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को ईरान से अगवा कर बलूचिस्तान से फर्जी गिरफ्तारी दिखाई है। इंटरनेशनल कोर्ट आॅफ जस्टिस (ICJ) में अगली सुनवाई के लिए पाकिस्तान ने नई टीम गठित की है जिसमें पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल पाकिस्तान का पक्ष रखेंगे।





आईसीजे में किया था ये दावा

पाकिस्तान ने इंटरनेशनल कोर्ट आॅफ जस्टिस में जाधव के खिलाफ ये दावा किया था कि उन्हें तीन मार्च को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था। वह ईरान से वहां आए थे। जबकि भारत के मुताबिक जाधव ईरान में ही अपना बिजनेस कर रहे थे, जहां से उन्हें अगवा किया गया है।

शोएब के बयान को आईसीजे में रख सकता है भारत

अमजद शोएब द्वारा दिए गए इस बयान को भारत अगली सुनवाई में अंतर्राष्ट्रीय अदालत में रख सकता है। हालांकि इसकी अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। वहीं पाकिस्तान ने आईसीजे को जाधव मामले पर जल्द सुनवाई के लिए पत्र लिखा है। गौरतलब है कि इंटरनेशनल कोर्ट ने अंतिम फैसले तक जाधव की फांसी पर रोक लगाई है।

पहले भी खुल चुकी है पोल

ये पहली बार नहीं है जब जाधव को लेकर पाकिस्तान की पोल खुली हो। पाकिस्तान में जर्मनी के पूर्व राजदूत गुंटर मुलक भी अपने सूत्रों के हवाले से ये बात कह चुके हैं कि जाधव को ईरान से तालिबान ने अगवा किया तथा आईएसआई को बेच दिया। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने भी पिछले वर्ष जाधव के खिलाफ पुख्ता गिरफ्तारी सबूत मौजूद न होने की बात कही थी। यही नहीं, इस सभी दावों और आईसीजे के फैसले के बाद पाकिस्तान की अपने ही देश में भी खूब किरकिरी हो चुकी है।

Comments

Most Popular

To Top