International

कुलभूषण से मुलाकात से पहले पत्नी की उतरवाई बिंदी, चूड़ी, मंगलसूत्र, भारत ने जताया कड़ा ऐतराज

नई दिल्ली। इतने लम्बे समय बाद एक मां अपने बेटे को गले से लगा सकेगी, पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की मां का यह अरमान रहा होगा लेकिन उनके  अरमानों पर पानी फिर गया। पाकिस्तान ने सोमवार को दुनिया को दिखाने के लिए कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी से मुलाकात तो करा दी। लेकिन ये मुलाकात भी पाकिस्तान के एक सोचे-समझे प्रायोजित तरीके से हुई। जाधव की मां और पत्नी उन्हें देख तो सकीं लेकिन एक शीशे की दीवार के पार से। यही नहीं मुलाक़ात से पहले जाधव की पत्नी और मां की चूड़ियां, बिंदी और मंगलसूत्र तक उतरवा दिया गया।





जाधव की पत्नी और मां से मुलाकात कराने के बाद जहां पाकिस्तान अपनी पीठ थपथपा रहा है। वहीं इस मुलाकात के पीछे छिपे अमानवीय रवैये की हर तरफ आलोचना हो रही है। दरअसल, इस मुलाकात की जो तस्वीर सामने आई हैं वे कई आशंकाओं को गहरा करती है क्योंकि पाकिस्तान ने इस मुलाकात में मानवता के मापदंडों की अवहेलना की है।

हटवा दीं बिंदी और उतरवा दी चूड़ियां-मंगलसूत्र

खबरों के मुताबिक 47 वर्षीय जाधव से उनकी पत्नी चेतनकुल और मां अवंति से मुलाकात अंतरराष्ट्रीय मानक के अनुरूप नहीं हुई। पाकिस्तान ने मुलाकात से पहले जाधव की पत्नी और मां से चूडियां व कानों की बालियां भी उतरवा दीं गई। यहां तक कि उनकी पत्नी द्वारा गले में पहना गया मंगलसूत्र तक उतरवा दिया गया।

शीशे की दीवार के बीच हुई मुलाकात

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पकिस्तान के इस्लामाबाद में हुई ये मुलाकात एक शिपिंग कंटेनर में शीशे की दीवार के बीच कराई गई जहां से वह अपनी मां और पत्नी को देख सकते थे। इसके अलावा जिस फोन से बात कराई गई उसे टेप से बांधा गया था। रिसीवर उठाकर बात नहीं करने दी गई। बताया जा रहा है कि 30 मिनट की इस मुलाकात को कुलभूषण जाधव के कहने पर 10 मिनट और बढ़ाया गया।

मातृभाषा में नहीं करने दी गईं बात 

यही नहीं जाधव के परिवार को अपनी मातृभाषा यानी मराठी में बात करने की इजाज़त नहीं दी गई और वहां मौजूद अधिकारी उन्हें मराठी न बोलने के लिए बार-बार टोक देते।  इसके अलावा पाकिस्तानी मीडिया को कई मौकों पर परिवार के सदस्यों के पास जाने की इजाज़त दी गई। जिन्होनें उन्हें परेशान किया जबकि यह साफ था कि मीडिया को करीब आने नहीं दिया जाएगा।

नहीं लौटाए पत्नी के जूते

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार द्वारा एक बयान में कहा ‘जिस तरह पाकिस्तान ने कुलभूषण की मां की उनसे मुलाकात करवाई है वह कुलभूषण पर आरोपित गतिविधयों को लेकर संशय पैदा करती है। अकथनीय कारणों के चलते मुलाकात के लिए गईं कुलभूषण की पत्नी के जूते पाक अधिकारियों ने लौटाने से इन्कार कर दिया। वह वहां लगातार अपने जूते लौटाने के लिए कहतीं रही लेकिन उनकी बात अनसुनी कर दी गई। हम इस मामले में किसी भी शरारती इरादे के प्रति सचेत करते हैं।

भारत ने जताया कड़ा विरोध 

प्रवक्ता के मुताबिक सुरक्षा कारणों का हवाला देकर पाकिस्तानी अधिकारियों ने कुलभूषण की मां और पत्नी की सांस्कृतिक और धार्मिक भावनाओं को आहत किया। प्रवक्ता ने अपने बयान में यह भी कहा है कि मुलाकात के दौरान ऐसा लग रहा था जैसे कुलभूषण काफी दबाव और तनाव के माहौल में बात कर रहे थे। उनकी ज्यादातर बातें सिखाई हुई लग रहीं थीं और पाकिस्तान में अपनी  गतिविधियों की गलत जानकारी दे रहे थे। मंत्रालय ने जाधव की सेहत को लेकर भी चिंता जताई है।

Comments

Most Popular

To Top