International

अमेरिका ने कोरियाई प्रायद्वीप क्यों भेजी ये टुकड़ी

अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर

वाशिंगटन। अमेरिकी सेना की प्रशांत कमान ने उत्तर कोरिया की धमकियों से निपटने के लिए हमला करने में सक्षम युद्धपोतों को कोरियाई प्रायद्वीप की तरफ बढ़ने का आदेश दिया है। यह जानकारी रविवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।
उल्लेखनीय है कि हमला करने में सक्षम कार्ल विनसन टुकड़ी में युद्धपोत के अलावा एयरक्राफ्ट कैरियर भी शामिल है जो दुश्मन को धूल चटाने में सक्षम है। इस लड़ाकू टुकड़ी को सिंगापुर से कोरियाई प्रायद्वीप की ओर रवाना किया गया है। हालांकि यह पता नहीं चल सका है कि इसका ठिकाना कहां होगा।





अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर

हमला करने में सक्षम कार्ल विनसन टुकड़ी में युद्धपोत के अलावा एयरक्राफ्ट कैरियर भी शामिल है जो दुश्मन को धूल चटाने में सक्षम है।

समाचार एजेंसी रॉयटर के अनुसार, अमेरिकी प्रशांत कमान ने कहा, “दक्षिण पैसिफिक की तरफ कूच करती ये तैनाती एक बुद्धिमानी भरा कदम है जो दिखाता है कि हम इस क्षेत्र में पूरी तरह तैयार हैं। उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि उत्तर कोरिया की परमाणु धमकियों से निपटने के लिए अमेरिका अकेले सक्षम है।

बीबीसी के अनुसार, अमेरिकी प्रशांत कमान के प्रवक्ता डेव बेनहम का कहना था, “इस क्षेत्र में सबसे बड़ा खतरा उत्तर कोरिया है, क्योंकि वह गैर ज़िम्मेदार देश है और मिसाइल परीक्षणों और परमाणु हथियार बनाने के प्रयासों से खतरा पैदा कर रहा है।”

विदित हो कि सीरिया पर अमेरिकी हमले के बाद उत्तर कोरिया ने कहा था कि परमाणु कार्यक्रम को और मजबूत करने का उसका फ़ैसला सही था। वैसे उत्तर कोरिया ने हाल के दिनों में परमाणु मिसाइल विकसित करने के लिए कई परीक्षण किए हैं, जबकि संयुक्त राष्ट्र, उत्तर कोरिया पर मिसाइल और परमाणु परीक्षण को लेकर उस पर कई तरह का प्रतिबंध लगा चुका है। लेकिन उत्तर कोरिया ने इन प्रतिबंधों को कई बार तोड़ा है और लगातार अधिक शक्तिशाली परमाणु बमों के सफल परीक्षण किए हैं।

Comments

Most Popular

To Top