International

अमेरिकी युद्धपोत ने दक्षिण चीन सागर में चीन को किया चैलेंज

दक्षिण चीन सागर

वाशिंगटन। डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने के बाद अमेरिका ने पहली बार दक्षिण चीन सागर में चीनी दावों को चुनौती दी है। एक अमेरिकी युद्धपोत इस सागर में कृत्रिम चीनी द्वीपों के निकट से गुजरा। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली।





एक अज्ञात सूत्र के हवाले से अमेरिकी मीडिया ने कहा कि युद्धपोत यूएसएस डेवी काफी धीमी गति से विवादित कृत्रिम द्वीप के निकट से गुजरा। विदित हो कि चीन दक्षिण चीन सागर के सभी द्वीपों पर दावा करता है, जबकि अन्य देश भी अपना-अपना दावा ठोंक रहे हैं। उधर, अमेरिका यह जोर देकर कहता है कि वह किसी भी अंतर्राष्ट्रीय जल क्षेत्र में अभियान चला सकता है।

अमेरिका का कहना है कि वह क्षेत्रीय विवाद में किसी का पक्ष नहीं लेता है, लेकिन उसने प्रमुख समुद्री और वायु मार्गों पर नौवाहन की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के लिए अतीत में भी अपने युद्ध पोत और लड़ाकू विमान भेजे हैं। अमेरिका ने सामरिक जल क्षेत्र में नौवाहन की स्वतंत्रता सीमित करने के लिए चीन की लगातार निंदा भी की है।

उल्लेखनीय है कि दक्षिण चीन सागर में चीन कृत्रिम द्वीपों का निर्माण कर वहां सैन्य अड्डा बना रहा है जिससे क्षेत्र में चिंता बढ़ गई है। लेकिन दक्षिण चीन सागर के सैन्यीकरण के लिए अमेरिका और चीन दोनों एक दूसरे की निंदा कर रहे हैं। नतीजा यह है कि संभावित गंभीर वैश्विक परिणाम के साथ यह सागर तनाव का सेंटर बनता जा रहा है।

वैसे हाल में दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी युद्धपोत की गश्त से दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध प्रभावित हो सकते हैं, क्योंकि उत्तर कोरिया के मुद्दे पर अमेरिका चीन का सहयोग चाह रहा है।

Comments

Most Popular

To Top