International

अमेरिकी सीनेट ने रूस पर ताजा प्रतिबंध लगाने का किया समर्थन

अमेरिकी सीनेट

वाशिंगटन। राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप के मद्देनजर अमेरिकी सीनेट ने बुधवार को भारी मतों से रूस पर नये प्रतिबंध लगाने वाले विधेयक का समर्थन किया। एक समाचार एजेंसी के अनुसार, अमेरिकी सीनेटरों ने 2 के मुकाबले 97 मतों से इस प्रस्ताव का भी समर्थन किया कि कांग्रेस ऐसी प्रक्रिया बनाएगी जिसके तहत राष्ट्रपति भी प्रतिबंधों को नहीं हटा सकेंगे। यह प्रस्ताव ईरान प्रतिबंध संशोधन विधेयक के रूप में पेश किया गया था।





यह विधेयक ऐसे समय लाया गया है जब अमेरिका में इस बात को लेकर चिंता जताई जा रही कि डोनाल्ड ट्रम्प के चुनाव अभियान के कर्ताधर्ताओं ने रूस के साथ संबंध स्थापित किए थे। लेकिन राष्ट्रपति ट्रम्प और रूस ने इस तरह की किसी साठगांठ से साफ इन्कार किया है।

उल्लेखनीय है कि ट्रम्प के चुनाव अभियान के रूसी संबंधों की जांच कई स्तरों पर की जा रही है जिनमें संघीय जांच ब्यूरो के पूर्व निदेशक रॉबर्ट मूलर समेत न्याय विभाग की जांच भी शामिल है।

नए प्रतिबंधों के दायरे में मानवाधिकार के दुरुपयोग और भ्रष्टाचार में लिप्त व्यक्ति, सीरिया की बशर सरकार को हथियार उपलब्ध कराने वाले, रूसी सरकार के बदले दुर्भावनापूर्ण साइबर गतिविधियां चलाने वाले व्यक्ति, रूस के रक्षा क्षेत्र और खुफिया एजेंसी के साथ संबंध रखने वाले व्यक्ति तथा रूस के खान, धातु, शिपिंग व रेलवे क्षेत्र को रखा गया है।

विधेयक के सीनेट में पारित हो जाने के बाद अब इसे प्रतिनिधि सभा में भी पारित कराना होगा। इसके बाद राष्ट्रपति की मुहर की भी आवश्यकता होगी। हालांकि सांसदों का मानना है कि किसी तरह के वीटो को निष्प्रभावी करने के लिए उनके पास पर्याप्त समर्थन है। सीनेट में मतदान का दोनों पार्टियों रिपब्लिकन और डेमोक्रेट्स ने स्वागत किया है।

Comments

Most Popular

To Top