International

F-16 और F-18 विमान भारत को बेचना चाहता है यूएस

वाशिंगटन। अमेरिका ने भारत को अत्याधुनिक F-16 और F-18 लड़ाकू विमान निर्यात करने का समर्थन किया है। ट्रंप प्रसाशन ने कहा है कि भारत अपने खतरनाक पड़ोसियों से घिरा है। ऐसे में वह इन विमानों की बिक्री का समर्थन करता है साथ ही यह भी कहा है कि ये खरीद भारत-अमेरिकी रिश्तों को एक मजबूत स्तर पर ले जाएगा।





दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री एलिस वेल्स ने संसदीय समिति के समक्ष भारत को एशिया-प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका का सबसे मजबूत साझीदार देश बताया। वेल्स ने कहा कि भारत खतरनाक पड़ोसी देशों के बीच स्थित है, जहां आतंकी हमलों में भारत और अमेरिका के कई नागरिक मारे जा चुके हैं। एलिस वेल्स ने कांग्रेस की एक उपसमिति को भारत को F-16 और F-18 विमान देने के पक्ष में लिखित रूप में दलीलें पेश कीं।

भारत के साथ सांझेदारी के साथ करना होगा काम : वेल्स

उन्होंने कहा कि लड़ाकू विमान निर्यात करने से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे। वेल्स ने समिति को बताया कि भारत प्रशांत क्षेत्र वैश्विक व्यापार और वाणिज्य का प्रमुख बिंदु है जहां विश्व भर के करीब 90 हजार वाणिज्यिक जहाजों में से आधे गुजरते हैं। भारत के साथ सांझेदारी से काम करना हमारे लिए लाभकारी होगा। वेल्स विदेश मामलों की उपसमिति के समक्ष भी पेश होंगी।

खबरों के मुताबिक अमेरिकी मंत्री ने कहा, ‘समान विचार वाले साझीदार देशों में से भारत में अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को बरकरार रखने की रणनीतिक और आर्थिक क्षमता है। सुरक्षा सहयोग के क्षेत्र में आज किए गए निवेश का लाभ हम आने वाले दशकों में ले सकेंगे। भारत खतरनाक पड़ोसियों के बीच स्थित है, ऐसे में आतंक रोधी सहयोग को विस्तार देने के लिए संयुक्त प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण किया जाना जरूरी है।’ उन्होंने बताया कि विदेश विभाग के आतंकरोधी सहयोग कार्यक्रम के तहत वर्ष 2009 से अब तक 1,100 से ज्यादा भारतीय जवानों को प्रशिक्षित किया जा चुका है।

Comments

Most Popular

To Top