International

ट्रम्प ने किया पेरिस समझौते से अलग होने का फैसला

डोनाल्ड ट्रम्प

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पेरिस समझौता से अलग होने का फैसला किया है। हालांकि इसकी प्रबल आशंका उस समय से थी जब जी-7 शिखर सम्मेलन में इस मुद्दे पर सहमति नहीं बनी थी और निर्णय करने के लिए ट्रम्प ने ट्वीट के जरिए एक सप्ताह का समय लिया था।





अमेरिका की राजनीतिक वेबसाइट एक्सियोज न्यूज ने दो अज्ञात सूत्रों के हवाले से बुधवार को यह जानकारी दी है। इन सूत्रों के पास ट्रम्प के इस निर्णय के बारे में पुख्ता जानकारी थी। वेबसाइट ने कहा कि सूत्रों ने समझौते से अमेरिका के अलग होने की पुष्टि भी की है।

उल्लेखनीय है कि ट्रम्प के इस फैसले से अमेरिका, सीरिया और निकारागुआ जैसे देशों की श्रेणी में शामिल हो जाएगा जो पेरिस समझौते में शामिल नहीं हैं। इस निर्णय का व्यापक असर भी होगा, क्योंकि यह समझौता गैस उत्सर्जन कम करने के लिए बड़े पैमाने पर प्रदूषण फैलाने वाले देशों की प्रतिबद्धता पर आश्रित है।

क्या था पेरिस समझौता

कार्बन डाई आक्साइड और अन्य उत्सर्जनों को कम कर ग्लोबल वार्मिंग को कम करने के लिए साल 2015 में पेरिस समझौता किया गया था जिसमें करीब 200 देश शामिल हुए थे। समझौते के तहत अमेरिका साल 2025 तक अपने 2005 के स्तर से 26 से 28 प्रतिशत तक गैसों का उत्सर्जन कम करने के लिए प्रतिबद्ध था।

हालांकि एक्सियोज न्यूज ने कहा कि अमेरिका को संयुक्त राष्ट्र समझौता से औपचारिक रूप से अलग होने में तीन साल तक का समय लग सकता है। वैसे इस प्रक्रिया में तेजी भी लाई जा सकती है।

Comments

Most Popular

To Top