International

सीरिया पर माहौल गर्माया, जानिए कौन-कौन है उसके साथ

नई दिल्ली: सीरिया में संदिग्ध रासायनिक हमले के ख़िलाफ़ सीरियाई सैन्य हवाई अड्डे पर अमेरिका की कार्रवाई पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने मौजूदा स्थिति बिगड़ने से बचने की चेतावनी दी है, लेकिन अमेरिका ने सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में आगे भी इस तरह की कार्रवाई करने के संकेत दिए हैं।





समाचार चैनल बीबीसी के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हेली ने सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में कहा कि अमेरिका ने नपा-तुला क़दम उठाया है, लेकिन इससे आगे की सैन्य कार्रवाई के लिए भी अमेरिका तैयार है। हालांकि निकी हेली ने उम्मीद जताई है कि इसकी ज़रूरत नहीं होगी। फ़िलहाल संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता अमेरिका के पास है। दूसरी तरफ, अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि मंगलवार को रासायनिक हमला करने के लिए जिस सैन्य अड्डे का इस्तेमाल किया गया था, अमेरिका ने उसी अड्डे पर बम बरसाए हैं।

बता दें कि सीरियाई सरकार पर पहली सीधी अमेरिकी सैन्य कार्रवाई में 9 लोगों की मौत हुई जिनमें चार बच्चे भी शामिल है। लेकिन सीरियाई सरकार ने गुरुवार रात किए गए अमेरिकी हमले को ग़ैरज़िम्मेदाराना और जल्दबाज़ी में उठाया गया क़दम करार दिया है।

अमेरिका के सहयोगियों ने किया हमले का समर्थन

अमेरिका के सहयोगी देशों ने सीरिया में ताज़ा कार्रवाई को लेकर समर्थन की पेशकश की है। ब्रिटेन ने सीरिया में हुए रासायनिक हमले को सीरियाई सरकार की तरफ़ से किया गया एक नृशंस रासायनिक हमला क़रार दिया है और अमेरिका की कार्रवाई को इसका सही जवाब बताया है। फ्रांस ने कहा कि रासायनिक हमले को युद्ध अपराध मानकर उसकी सज़ा दी जानी चाहिए।

वहीं, नाटो सैन्य गठबंध के महासचिव जेन्स स्टॉल्टनबर्ग ने कहा कि ऐसे हथियारों से किए गए हमले का जवाब ना दिया जाए यह नहीं हो सकता था। तुर्की और सऊदी अरब ने भी अमेरिकी कार्रवाई का स्वागत किया है।

सीरिया-रूस ने जताया विरोध

सीरिया और रूस ने अमेरिकी हमले पर कड़ा एतराज़ जताया है। वहीं, ईरान ने भी अमेरिका की निंदा की है और सीरिया सरकार के साथ खड़ा है। संयुक्त राष्ट्र में रूस के उप राजदूत व्लादिमीर सैफ़्रोनकॉफ़ ने कहा कि अमेरिकी कार्रवाई अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है और इससे क्षेत्र में गंभीर परिणाम आ सकते हैं। लेकिन अमेरिकी सैन्य मुख्यालय पेंटागन ने इससे इनकार किया और कहा कि संवाद के सभी रास्ते खुले हैं।

सीरिया पर अमेरिकी मिसाइल हमला अक्षम्य : उ. कोरिया

प्योंगयोंग। सीरियाई सैन्य हवाई अड्डे पर शुक्रवार को हुए अमेरिकी हमले को उत्तर कोरिया ने अक्षम्य आक्रमण बताया है और कहा कि परमाणु हथियार बनाने का उसका निर्णय सही है। यह जानकारी शनिवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।
सरकारी संवाद एजेंसी केसीएनए के अनुसार, विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, “आज की वास्तविकता सैन्य शक्ति बढ़ाने के हमारे फैसले को सही ठहराती है।”

कूटनीतिक रूप से अलग-थलग पड़ चुका उत्तर कोरिया सीरिया को अपना एक प्रमुख सहयोगी देश मानता है। समाचार एजेंसी केसीएनए ने कहा कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन और सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद ने एक दूसरे को गर्मजोशी के साथ शुभकामना संदेश भेजकर दोनों देशों के बीच दोस्ती और सहयोग बढ़ाने का संकल्प लिया है।
असद ने सीरियाई संघर्ष को मान्यता देने के लिए उन को धन्यवाद दिया और वैश्विक आतंकवाद से निपटने में सफल होने के लिए सहयोग की अपेक्षा की।

Comments

Most Popular

To Top