International

अमेरिका ने इसलिए टाला F-35 जंगी विमान का संचालन

F-35 जंगी विमान

वाशिंगटन। लॉकहीड मार्टिन द्वारा निर्मित जंगी विमान F-35 की प्रशिक्षण उड़ान के दौरान पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलने की शिकायत के बाद अमेरिकी वायु सेना ने इस लड़ाकू विमान के एक बेड़े का संचालन अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है। यह घोषणा अमेरिकी वायुसेना ने की। इस समय दुनिया भर में 220 से ज्यादा F-35 लड़ाकू विमान उड़ान भर रहे हैं।





  • पायलटों के हाइपोक्सिया जैसे लक्षणों का सामना करने के बाद एरिजोना के ल्यूक एयरफोर्स बेस से F -35 विमान की उड़ान रोक दी गई
F-35 जंगी विमान

F-35 जंगी विमान (फ़ाइल फोटो)

बीबीसी के अनुसार, वायु सेना के प्रवक्ता कैप्टन मार्क ग्रेफ ने कहा कि पायलटों के हाइपोक्सिया जैसे लक्षणों का सामना करने के बाद एरिजोना के ल्यूक एयरफोर्स बेस से F -35 विमान की उड़ान रोक दी गई है। इस बेस पर 55 जेट हैं। इसके बावजूद विमान की निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन इसे पेरिस एयर शो में उतारने की योजना बना रही है। वैसे वायु सेना के अन्य अड्डों पर F-35 लड़ाकू विमान अभी भी उपयोग में है। अमेरिकी वायुसेना का कहना है कि अन्य बेस से F-35 के एयर आपरेशंस जारी रहेंगे। ल्यूक एयरफोर्स बेस F-35 का दुनिया का सबसे बड़ा बेस है और यहाँ अमेरिकी पायलटों के अलावा गठबंधन देशों के पायलट भी प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं।

विदित हो कि फीनिक्स के उत्तर-पश्चिम में स्थित ल्यूक वायु सेना के अड्डे पर शुक्रवार को F-35 ए लाइटनिंग II विमान का स्थानीय उड़ान परिचालन इसलिए रद कर दिया गया कि पायलटों ने हाइपोक्सिया जैसे लक्षणों के एक बार नहीं, बल्कि पांच बार अनुभव किए थे।

Comments

Most Popular

To Top