International

उत्तर कोरिया की दबंगई पर अमेरिका ने ऐसे दिखाए तेवर

अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलर्सन

सोल। अमेरिकी नीतियों में अभूतपूर्व बदलाव के संकेत देते हुए विदेश मंत्री रेक्स टिलर्सन ने शुक्रवार को कहा कि परमाणु मुद्दे पर उत्तर कोरिया के खिलाफ सभी विकल्प खुले हुए हैं जिनमें सैन्य कार्रवाई भी शामिल है।





सोल में अपने समकक्ष यून ब्यूंग- से के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए टिलर्सन ने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु रहित बनाने के लिए राजनयिक, सुरक्षा और आर्थिक उपायों के साथ सभी विकल्पों पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर परमाणु संपन्न उत्तर कोरियाई शासन की ओर खतरा बढ़ा तो सैन्य कार्रवाई का विकल्प भी है।

पहली बार एशिया के दौरे पर आए अमेरिकी विदेश मंत्री टिलर्सन

संकट समाधान के मद्देनजर पहली बार एशिया के दौरे पर आए विदेश मंत्री टिलर्सन की कड़ी टिप्पणी उत्तर कोरिया को लेकर अमेरिका की नीति में स्पष्ट बदलाव का संकेत है। गत सप्ताह उत्तर कोरिया के प्रक्षेपास्त्र परीक्षण के बाद अमेरिकी विदेशमंत्री ने एशिया का दौरा किया है। उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण को जापान में अमेरिकी ठिकानों पर हमले के लिए एक अभ्यास बताया था।

अमेरिकी विदेश मंत्री गुरुवार को जापान गए थे और वहां उन्होंने जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे और अपने समकक्ष फ्यूमियो किशिदा से मुलाकात की थी। वह शनिवार को चीन के लिए रवाना होंगे।

उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ओर से कड़े प्रतिबंध लगाए जाने का भी संकेत

टिलर्सन ने कहा कि उत्तर कोरिया के प्रति तथाकथित रणनीतिक धैर्य की नीति छोड़ दी गई है और वे दिन अब लद गए हैं जब अमेरिका उत्तर कोरिया के परमाणु रहित बनने से पहले उससे बात करने के पक्ष में नहीं था। शीर्ष अमेरिकी राजनयिक ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ओर से कड़े प्रतिबंध लगाए जाने का भी संकेत दिया, लेकिन यह नहीं कहा कि सैन्य कार्रवाई की अभी तुरंत आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अमेरिका सैन्य कार्रवाई के लिए तैयार है, लेकिन वाशिंगटन सैन्य संघर्षों का कारण नहीं बनना चाहता है।

उन्होंने कहा कि अगर उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया को डराने के लिए उकसावे की कार्रवाई की तो यहां तैनात अमेरिकी सेना उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी। अभी दक्षिण कोरिया में 28000 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि अगर उत्तर कोरिया परमाणु और जनसंहारक हथियारों को त्याग देता है तो अमेरिका प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त बनाने के लिए वार्ता की मेज पर आ सकता है।

इस बीच दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री ने कहा कि उत्तर कोरियाई परमाणु खतरे से निपटने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त बनाना दोनों मित्र देशों का साझा उद्देश्य है।

Comments

Most Popular

To Top