International

डोकलाम विवाद के बाद दिल्ली में चीन के NSA के साथ पहली बार बैठक करेंगे अजीत डोभाल

अजीत डोभाल

नई दिल्ली। डोकलाम गतिरोध के बाद भारत-चीन दोनों देशों के एनएसए के बीच आज पहली बैठक हो रही है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के यांग जिएची बैठक में सीमा विवाद समेत कई मसलों पर चर्चा करेंगे। बता दें कि दोनों देशों के बीच ये बातचीत का 20वां राउंड है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी अपने चीनी समकक्ष वांग यी से बात की थी।





उल्लेखनीय है कि भारत-चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद को हल करने का जिम्मा अजीत डोभाल को सौंपा गया हैं। डोकलाम गतिरोध सुलझाने का श्रेय भी एनएसए अजीत डोभाल को ही जाता है। 27 जुलाई को जब डोभाल बीजिंग में चीन के स्टेट काउंसलर यांग जिएची से इस मुद्दे पर बात की थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दोनों के बीच काफी सख्त लहजे में बातचीत हुई थी। यांग ने डोकलाम पर डोभाल से सीधा सवाल किया था कि क्या ये आपका क्षेत्र है? इसका जवाब भी डोभाल ने दो टूक दिया था कि क्या हर विवादित क्षेत्र चीन का हो जाता है ?

कई मसलों पर भारत की है नाराजगी

चीन लगातार पाकिस्तान के समर्थन में खड़ा रहता है और पीओके में सीपीईसी का निर्माण कर रहा है, जिसका भारत काफी समय से कड़ा विरोध कर रहा है। पोओके को लेकर भारत का कहना है कि पीओके भारत का अभिन्न हिस्सा है, जिस पर पाकिस्तान ने अवैध कब्जा कर रखा है। भारत के मुताबिक चीन की तरफ से पीओके में सीपीईसी का निर्माण करना उसकी संप्रभुता का उल्लंघन है। इसी के कारण चीन में आयोजित OBOR सम्मेलन का भारत ने बहिष्कार किया था।

मालूम हो कि डोकलाम विवाद के बाद से भारत-चीन के रिश्तों में कड़वाहट आ गई है। इसी कड़वाहट को दूर करने के लिए पिछले माह भी दोनों देशों के अधिकारियों ने बीजिंग में भारत-चीन मामलों पर WMCC के 10वें चरण में बॉर्डर से संबंधित मसलों पर बातचीत की थी।

Comments

Most Popular

To Top