International

काबुल में कोचिंग सेंटर में शिया छात्रों को बनाया निशाना, 48 की मौत

काबुल

काबुल। अफगानिस्तान में आतंकी हमले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बार आतंकियों ने शिया छात्रों को निशाना बनाया है। एक आत्मघाती हमलावर ने उस ट्यूशन सेंटर को निशाना बनाया जिसमें शिया छात्र विश्वविद्यालय परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे। मीडिया खबरों के मुताबिक इस हमले में 48 लोगों की मौत हो गई और 67 घायल बताए जा रहे हैं। मृतकों में छात्रों के साथ कुछ शिक्षक भी बताए जा रहे हैं। अफगानिस्तान में शिया सुमदाय पर हाल ही के दिनों में यह सबसे बड़ा हमला है। हमले की जिम्मेदारी हालांकि किसी ने नहीं ली है लेकिन इसके लिए इस्लामिक स्टेट को जिम्मेदार बताया जा रहा है। पिछले एक सप्ताह में तालिबान के हमलों में भी सैकड़ों पुलिसवालों और आम लोगों की जान गई है।





बताया जाता है कि काबुल के दश्त-ए-बारचा इलाके में एक निजी इमारत में जहां शिया समुदाय के बच्चे पढ़ रहे थे वहां एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। पढ़ रहे बच्चे यूनिवर्सिटी की प्रवेश परीक्षा के लिए एक्सट्रा क्लास ले रहे थे। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाजिद मजरोह के मुताबिक मरने वालों में छात्रों के साथ कुछ शिक्षक भी हैं। घायलों की संख्या का अभी पता नहीं लग पाया है। घायलों की जो हालत है उसे देखते हुए मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती है।

अधिकारियों के मुताबिक अभी तक एक हमलावर की पुष्टि हुई है। तालिबान ने इस हमले में अपनी भूमिका से इनकार किया है। स्थानीय शिया लोग हमले में इस्लामिक स्टेट का हाथ मान रहे हैं। हालांकि उसने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इससे पहले ऐसे हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ले चुका है।

 

Kabul, suicide attack, काबुल, आत्मघाती हमला

Comments

Most Popular

To Top