Army

सेना में भर्ती के लिए दौड़ते युवक को पड़ा दिल का दौरा

सेना भर्ती रैली
सेना भर्ती के लिए दौड़ में भाग लेते युवक (प्रतीकात्मक)

गुरुग्राम। सेना की खुली भर्ती के दौरान शहर के सेक्टर- 38 स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में सेना की खुली भर्ती के दौरान एक 22 वर्ष के युवक को दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। फिजिकल टेस्ट के दौरान कुछ दूर दौड़ते ही वह अचानक जमीन पर गिर पड़ा। सेना की ऐम्बुलेंस से उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। युवक की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हार्ट अटैक को मौत के कारण माना जा रहा है। वहीं, डॉक्टर यह भी जांच कर रहे हैं कि कहीं स्टेरॉइड की ओवरडोज से तो यह जान नहीं गई।





पुलिस के मुताबिक, गुरुवार को ताऊ देवीलाल स्टेडियम में सेना की खुली भर्ती के लिए फिजिकल टेस्ट का आयोजन किया गया था। इसमें अलग-अलग शहरों से 250 से अधिक युवक शामिल हुए। इसी दौरान सुबह 7:30 बजे 1.6 किमी के लिए युवाओं को दौड़ने को कहा गया था। जिसमें युवक जितेंद्र करीब 100 मीटर दौड़ने के बाद गिर पड़ा। जिसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया । जितेंद्र दिल्ली के संगम विहार का रहने वाला था।

जांच अधिकारी एएसआई मोहन ने बताया कि दोपहर को शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया गया है। युवक का पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉ. दीपक माथुर का कहना है कि दिल का दौरा पड़ने से युवक की मौत हुई लेकिन अचानक ऐसा होना स्टेरॉइड की ओवरडोज से भी हो सकता है। इसकी जांच के लिए सैंपल लैब भेजे गए हैं।

स्टेरॉइड का न करें इस्तेमाल-

फिटनेस की चाह रखने वाले युवा इन दिनों जमकर स्टेरॉइड का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस बारे में कार्डियॉलजिस्ट डॉक्टरों का कहना है कि इसकी अधिकता भी हार्ट अटैक की वजह बन जाती है। इसका शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ता है, साथ ही दिल को भी कमजोर करता है।

दिल की बीमारी पहचानने का आसान तरीका-

हार्ट को आवश्यक ऑक्सीजन पहुंचाने वाली कोरोनरी आर्टरीज जब जरूरत के अनुसार खून की आपूर्ति नहीं कर पातीं, तो सीने में दर्द की शिकायत होती है, जिसे एंजाइना कहा जाता है। शरीर में खून पहुंचाने के लिए दिल किसी पंप की तरह काम करता है। इस पंप को चालू रखने के लिए दिल तक खून पहुंचाने वाली नसों को ही कोरोनरी आर्टरीज कहा जाता है। ऐसे लोगों को या तो सांस लेने में परेशानी होती है या फिर पैर और टखनों में सूजन आ जाती है। एक समय ऐसा आता है कि दिल से जुड़ी उनकी आर्टरी पूरी तरह से काम करना बंद कर देती है, तभी हार्ट अटैक होता है।

 

 

Comments

Most Popular

To Top