CISF

महिला अधिकारों को ऐसे समझा रहा सीआईएसएफ

सीआईएसएफ-विंग

गाज़ियाबाद। सीआईएसएफ कर्मियों के परिवार की महिलाओं और महिला सीआईएसएफ विंग ‘संरक्षिका’ ने गाजियाबाद में मिलकर महिलाओं के उत्थान के लिए नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया। इसमें महिलाओं के अधिकारों को भी समझाया गया। कार्यक्रम में महिलाओं की सुरक्षा से लेकर दहेज न लेने के प्रति लोगों को जागरूक भी किया गया। इस विंग का नाम ‘संरक्षिका’ है।





सीआईएसएफ विंग

सीआईएसएफ विंग के नुकक्ड़ नाटक देखते लोग

इसमें अधिकतर वे महिलाएं हैं, जो CISF में काम करने वाले कर्मियों की पत्नियां हैं। साथ ही इनमें CISF में काम करने वाली महिला कांस्टेबल, सब इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर से लेकर तमाम महिलाकर्मी भी शामिल हैं। कार्यक्रम का आयोजन गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्थित हैबिटेट सेंटर में हुआ।

सीआईएसएफ वेलफेयर एसोसिएशन संरक्षिका के तहत आयोजित नुक्कड़ नाटक का मंचन इंदिरापुरम हैबिटेट सेंटर में किया गया, जिसका सब्जेक्ट महिला सुरक्षा एवं जागरूकता पर आधारित था। इसे लोगों ने खूब सराहा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सीआईएसएफ के महानिदेशक ओपी सिंह थे।

सीआईएसएफ-विंग

महिला सीआईएसएफ विंग ‘संरक्षिका’ ने महिलाओं के उत्थान के लिए नुक्कड़ प्रस्तुत किया

इस दौरान संस्‍था की संरक्षिका अध्यक्ष नीलम सिंह, उपाध्यक्ष अमृता मिश्रा भी उपस्थित रहीं। नुक्कड़ नाटक को संयुक्त सचिव सरोज सिंह ने लिखा और निर्देशन गायत्री शर्मा ने किया। इस दौरान आरती सिंह, सायमा खान, माधुरी सिंह, नंदनी मान, गुंजन सिंह, मोनिका माथुर, रानू, सरोज सिंह, गायत्री शर्मा, दुर्गेश साहू, अली, जगमोहन, प्रीती और शबनम भी मौजूद रहे।

Comments

Most Popular

To Top