Army

महिला शक्ति : थल सेना की पहली महिला अफसर मेजर प्रिया झिंगन से जुड़े 9 फैक्ट्स

हिमाचल प्रदेश के शिमला शहर की प्रिया झिंगन भारतीय थल सेना की पहली महिला अफसर हैं। बचपन से ही प्रिया एक चुलबुली और शरारती थीं। एक दिन स्कूल की सहेलियों ने एक फौजी अफसर को देखकर कहा कि वे ऐसे ही अफसर से शादी करेंगी। लेकिन प्रिया ने कहा कि वह किसी फौजी अफसर से शादी नहीं करेंगी, बल्कि खुद फौज की अफसर बनेंगी। मजाक में कही गई इसी बात ने प्रिया की जिंदगी तय की और कुछ ही दिन बाद उन्होंने इंडियन आर्मी की पहली महिला अफसर बनकर इतिहास रच दिया। आज हम आपको बता रहे हैं उनके इस प्रेरणादायक सफर की दिलचस्प दास्तां:-





इस घटना के बाद पहचाना अपना सपना

प्रिया झिंगन ने स्कूली पढ़ाई शिमला के लोरेटो कान्वेंट तारा कोल स्कूल से पूरी की। उनके मुताबिक वह अपने स्कूल में बेहद चुलबुली और शरारती थीं। यहां तक कि कई बार उनकी शरारतों के कारण उन्हें दूसरे स्टूडेंट्स से अलग बैठाया जाता था। प्रिया के पिता आर्मी में अफसर थे। अपने पिता की ही तरह वह भी सेना की वर्दी पहनना चाहती थीं। एक इंटरव्यू के दौरान प्रिया झिंगन ने बताया कि कक्षा नौ की पढ़ाई के दौरान उनके स्कूल में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें उनके राज्य के गर्वनर मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद थे। उनके साथ उनका एडीसी भी तैनात थे। जो लड़कियों को काफी आकर्षक लगा। लड़कियों ने कक्षा में वापस जाकर एडीसी के बारे में बात करते हुए कहा कि वे एक सैन्य अफसर से शादी करना चाहेंगी। लेकिन प्रिया ने कहा कि वह एक फौजी अफसर से शादी नहीं करेंगी, बल्कि खुद एक सैन्य अफसर बनेंगी। प्रिया ने उस समय भले ही जाने-अनजाने में यह शब्द बोल दिए हो, लेकिन इन्हीं चंद शब्दों ने उनकी आगे की जिंदगी को दिशा दी।

Comments

Most Popular

To Top