Forces

पाकिस्तानी कमांडो को मौत के मुंह से ले आए भारतीय तटरक्षक

इंडियन कोस्टगार्ड

नई दिल्ली। पाकिस्तान ने भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को रॉ का एजेंट होने के शक में मौत की सजा सुनाई है, जिससे दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। वहीं, दूसरी ओर भारतीय कोस्ट गार्ड ने इंसानियत की मिसाल पेश करते हुए पाकिस्तान मैरीटाइम (जहाजी) सिक्योरिटी एजेंसी के दो कमांडो को समंदर में डूबने से बचा लिया।





पाकिस्तान मैरीटाइम सिक्योरिटी की हाई स्पीड बोट रविवार को रास्ता भटक गई थी। इस बोट में 6 मरीन कमांडो सवार थे। बोट की लोकेशन गुजरात के ओखा बंदरगाह से करीब 58 नॉटिकल मील थी। ऐसे में पाकिस्तानी एजेंसी ने भारतीय कोस्ट गार्ड से मदद मांगी। कोस्ट गार्ड ने तुरंत वहां से गुजर रहे इंडियन कोस्टगार्ड के जहाज, ‘आईसीजी अंकित’ को उसी दिशा में रवाना कर दिया जहां पाकिस्तानी बोट डूबी थी।

भारतीय-कोस्टगार्ड

भारतीय कोस्टगार्ड ने मुस्तैदी के साथ बीच समंदर में बचाई दो पाकिस्तानी मेरीटाइम कमांडो की जान

अगले दिन सुबह यानि 10 अप्रैल (सोमवार) को कोस्टगार्ड ने अपने दो और जहाज सम्राट और अरिंजय को भी मदद के लिए लगाया। एक डोर्नियर विमान को भी खोजबीन को लिए लगाया गया।

दरअसल पाकिस्तान मैरीटाइम सिक्योरिटी की बोट में खराबी आने की वजह से वह बीच समंदर में फंस गई। इस दौरान भारतीय मछुआरों ने भी इनकी पूरी मदद की। कई घंटों तक चले इस ऑपरेशन में भारतीय कोस्ट गार्ड, पाकिस्तानी मैरीटाइम सिक्योरिटी एजेंसी के दो कमांडो को बचाने में कामयाब रहे। इनमें से एक कमांडो की तबियत काफी खराब हो गई थी, जिसे तुरंत चिकित्सा सहायता मुहैया कराई गई।

हालांकि चार अन्य पाकिस्तानी कमांडो को नहीं बचाया जा सका। बाद में पाकिस्तानी मैरीटाइम सिक्योरिटी एजेंसी ने चार शवों को खोजा। भारतीय कोस्टगार्ड की इस मदद के लिए पाकिस्तान मैरीटाइम सिक्योरिटी के महानिदेशक ने फोन करके शुक्रिया अदा किया है।

Comments

Most Popular

To Top