Air Force

3,600 करोड़ के VVIP हेलिकॉप्टर घोटाले में दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला निदेशक को जमानत दी

VVIP हेलिकॉप्टर घोटाला

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में गिरफ्तार की गईं दुबई की दो कंपनियों की एक महिला डायरेक्टर को शुक्रवार को बेल दे दी। 3,600 करोड़ रुपये के इस घोटाले में जज ए.के. पाठक ने कहा कि शिवानी राजीव सक्सेना को जमानत दी कि वह पांच महीने तक हिरासत में रही और पूरक अभियोजन शिकायत (आरोप पत्र) उसके खिलाफ दाखिल किया जा चुका है और सुनवाई में समय लग सकता है। दुबई की मैसर्स यूएचवाई सक्सेना और मैसर्स मैट्रिक्स होल्डिंग की निदेशक शिवानी को ईडी ने 16 जुलाई को गिरफ्तार किया था और उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।





कोर्ट ने एक लाख रुपये का निजी बांड और उतनी ही राशि की दो मुचलके देने को कहा तथा उन्हें निचली अदालत की अनुमति के बिना देश से बाहर नहीं जाने का निर्देश दिया। न्यायमुर्ति पाठक ने शिवानी को अपना पासपोर्ट निचली अदालत में जमा करने के साथ-साथ अपना मोबाइल नंबर और पता जांच अधिकारी को देने जैसे कई शर्त लगाई।

एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय के वकील रिपूदमन भारद्वाज ने यह कहते हुए शिवानी की बेल अर्जी का विरोध किया कि वह अपराध की राशि का धनशोधन करने में तथा अगस्तावेस्टलैंड में दलाली घोटाले में सक्रियता से भागीदार रही है। भारत ने 01 जनवरी, 2014 को फिनमेक्केनिका की ब्रिटिश सहायक कंपनी अगस्तावेस्टलैंड से 12 AW 101 VVIP हेलिकॉप्टर खरीदने का सौदा कैंसल किया था क्योंकि सौदे की शर्तों का कथित रूप से उल्लंघन हुआ था और इस सौदे के लिए 423 करोड़ रुपये कथित दलाली दी गई थी।

Comments

Most Popular

To Top