Forces

उड़ी हमला: सर्जिकल स्ट्राइक कर भारतीय सेना ने ऐसे उड़ाए पाक के होश

उड़ी हमला
फाइल फोटो

नई दिल्ली। आज से ठीक तीन बरस पहले 18 सितंबर को आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर के उड़ी में भारतीय सेना के ब्रिगेड हेड क्वॉर्टर पर हमला किया था। इस हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे और कई घायल हो गए थे। बाद में आतंकियों के साथ सेना की 06 घंटे तक चली मुठभेड़ में चारों आतंकी मौत के घाट उतार दिए गए थे।





इस हमले के ठीक 10 दिन बाद भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक कर पाक को सबक सिखाया। जिसमें पाक के होशो-हवाश उड़ गए। भारतीय सेना की रणनीति के तहत 150 कमांडो की मदद से सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया गया। भारत ने दुश्मन की सीमा में घुसकर कुशल ऑपरेशन को अंजाम दिया।

भारतीय सेना के जांबाज जवान ने पूरी योजना के तहत 28-29 सितंबर की आधी रात PoK में सीमा में तीन किलोमीटर भीतर घुसकर आतंकी ठिकानों को तहस-नहस कर डाला था।

सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान एमआई- 71 हेलिकॉप्टरों के जरिए 150 कमांडो को LoC के पास उतारा गया। यहां से 4 और 9 पैरा के कमांडो पाकिस्तान के सीमा में दाखिल हुए। घनघोर अंधेरा, अनजान जगह के खतरों के बीच सैनिकों ने पाकिस्तानी सेना की ओर से फायरिंग की आशंका के बीच तीन किलोमीटर की दूरी रेंगकर तय की।

कमांडो इतने सधे और खामोश कदमों से आतंकी ठिकानों पर पहुंचे कि किसी को पता ही नहीं चला और भारतीय सेना के सैनिकों ने निशाना लगाकर आतंकी कैपों को तहस-नहस कर दिया।

 

Comments

Most Popular

To Top