Air Force

MIG-29 का अपग्रेडेड वर्जन उड़ाएगा चीन और पाकिस्तान की नींद

जालंधर। रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण अदमपुर एयरफोर्स स्टेशन अब अपग्रेडेड MIG-29 से तैनात होगा। अदमपुर एयरफोर्स स्टेशन से चीन 250 किलोमीटर और पाकिस्तान सिर्फ 100 किलोमीटर की दूरी पर है। अपग्रेड होने के बाद लड़ाकू विमान MIG-29 की ताकत और स्पीड दोनों ही बढ़ गये हैं। इतना ही नहीं इस लड़ाकू एयरक्राफ्ट में अब बीच हवा में ही ईंधर भरा जा सकेगा और इस एयरक्राफ्ट के जरिए अब एक साथ कई दिशाओं में हमला बोला जा सकता है। लड़ाकू विमानों की कमी से जूझ रही भारतीय वायुसेना को MIG-29 के अपग्रेड वर्जन से राहत की सांस लेने का मौका मिलेगा।





मीडिया खबरों के मुताबिक बीते सप्ताह अदमपुर एयरफोर्स स्टेशन पर MIG-29 के अपग्रेडेड वर्जन का प्रदर्शन किया गया। अपग्रेडेड वर्जन के माध्यम से अब चीन और पाकिस्तान पर अब और बेहतर तरीके से नजर रखी जा सकेगी। रूस द्वारा निर्मित इस एयरक्राफ्ट में मल्टी फंक्शनल डिस्पले भी लगाया गया है। अदमपुर एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात फ्लाइट लेफ्टिनेंट करण कोहली के हवाले से खबरों में कहा गया है कि ये विमान भारतीय एयर स्पेस में किसी विमान के घुसने की सूचना मिलने के सिर्फ 5 मिनट के भीतर उड़ान भर सकते हैं।

MIG उड़ाने का अनुभव रखने वाले एक पायलट के मुताबिक अपग्रेडेड वर्जन में तमाम आधुनिक फीचर्स हैं। MIG-29 की रेंज को बेहद हद तक बेहतर किया गया है। अब एयर-टु-एयर, एयर-टु-ग्राउंड और एंटी शिपिंग ऑपरेशन आसानी से किये जा सकेंगे। MIG-29 के अपग्रेडेड वर्जन में ग्लास कॉकपिट और डिजीटल सक्रीन भी है।

बीते बरसों में MIG-29 ने कई मौकों पर उपनी उपयोगिता साबित की है। वर्ष 1999 में करगिल युद्ध के दौरान भी MIG-29 की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। फिलहाल भारतीय वायु सेना के MIG-29 के तीन स्क्वॉड्रन ऑपरेशन में हैं। एक स्क्वॉड्रन में अमूमन 16 से 18 एयरक्राफ्ट होते हैं। MIG-29 के दो स्क्वॉड्रन अदमपुर में हैं।

MIG-29, अपग्रेडेड वर्जन, चीन, पाकिस्तान, Upgrade version, MiG-29, boost, India’s strength, featured,

Comments

Most Popular

To Top