DEFENCE

‘अंतर्राष्ट्रीय पुलिस एक्सपो’ में दिखा यूपी पुलिस का इतिहास और भविष्य

अंतर्राष्ट्रीय पुलिस एक्सपो

नई दिल्ली। प्रगति मैदान में आयोजित दो दिवसीय चौथे अंतर्राष्ट्रीय पुलिस एक्सपो में उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपनी प्राचीन विरासत, मौजूदा तकनीक और भविष्य की योजनाओं को प्रदर्शित कर दर्शकों को आकर्षित किया। स्टाल में उत्तर प्रदेश पुलिस ने जहां 17वीं-18वीं शताब्दी में सुरक्षा-संरक्षा के लिए प्रयोग की गई केंचुकी बंदूक को प्रदर्शित किया, वहीं नई टेक्नोलॉजी के साथ यूपी-100 की उपलब्धियों को प्रदर्शित कर भविष्य में राजधानी लखनऊ में पुलिस मुख्यालय की इमारत कैसी होगी इसे चित्रों के माध्यम से दर्शाया।





अंतर्राष्ट्रीय पुलिस एक्सपो में सुल्ताना डाकू

पुराने चित्रों ने भी प्रदर्शनी को यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। सुल्ताना डाकू का नाम तो सभी ने सुना होगा पर उसकी असली तस्वीर देश के सबसे बड़े सूबे की पुलिस के पास है। जिसे यहां प्रदर्शित किया गया। बिजनौर फ्रायड यंग एंड मिलिट्री पुलिस के तत्कालीन एसपी ने सन् 1925 में उसे गिरफ्तार किया था। बाद में फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद की इस कुख्यात डाकू की फोटो यहां प्रदर्शित की गई। अलावा इसके पीएसी मेल (चतुर्थ वाहिनी इलाहबाद, 1950) का वाहन, उत्तर प्रदेश के तत्कालीन पुलिस मंत्री (गृहमंत्री) लाल बहादुर शास्त्री की पीएसी बटालियन एथलेटिक्स (1950) का चित्र तथा भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की लखनऊ पुलिस लाइंस में पुलिस कलर प्राप्त करने की फोटो यहां पर दर्शाई गई।

लाल बहादूर शास्त्री

वुमेन पावर लाइन 1090 तथा महिला सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध यूपी-100 किस तरह सूबे की महिलाओं के लिए कारगर है इस बात की जानकारी ने दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित किया।

प्रदर्शनी में यूपी पुलिस

यूपी-100 के एडीशनल एसपी अशोक कुमार वर्मा इस प्रणाली के बारे में बताते हैं कि रोजाना तकरीबन पौने दो लाख कॉल सीधे लखनऊ केन्द्र में आती हैं। यह विश्व की सबसे बड़ी एकीकृत आपातकालीन प्रबंधन प्रणाली है जिसे बड़े कौतुहल के साथ देश-दुनिया के लोग इसे देखने-जानने के लिए आते हैं। आंकड़ा बताता है कि करीब एक वर्ष की अवधि में 65.47 लाख सूचनाओं पर त्वरित कार्रवाई, 10.42 लाख विवादों में जरूरी कार्रवाई की गई। 3.57 लाख सड़क हादसों में घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। और 977 लोगों को आत्महत्या करने से रोककर जान बचाई गई। प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल भी यहां प्रदर्शित किए गए।

Comments

Most Popular

To Top