Army

हजारों नम आंखों ने दी शहीद विक्रम सिंह को विदाई 

शहीद विक्रम सिंह

मथुरा। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए मथुरा के जवान विक्रम सिंह अधाना की अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए। ‘भारत माता की जय’ और ‘ शहीद विक्रम सिंह अमर रहे’ के नारों के बीच हजारों नम आंखों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। शहीद विक्रम सिंह की अंतिम यात्रा में उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा और तमाम प्रशासनिक अधिकारी भी शामिल हुए। सेना के जवानों ने शहीद विक्रम सिहं को सलामी दी। विक्रम सिंह के दो वर्षीय बेटे अंश ने अपने शहीद पिता को मुखाग्नि दी तो सभी का दिल भर आया।





छाता तहसील के गांव लाडपुर निवासी असम राइफल्स के जवान विक्रम सिंह रविवार रात को आतंकी हमले में शहीद हो गये थे। मंगलवार दोपहर सेना के जवान जैसे ही शहीद विक्रम सिंह का पार्थिव शरीर लेकर गांव पहुंचे तो उनके अंतिम दर्शनों के लिए लोगों का सैलाब उमड़ आया। शहीद के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। आसपास के गांवों से उमड़े लोगों और रिश्तेदारों की आंखें भी नम थीं। हर कोई शहीद विक्रम सिंह के परिजनों को ढांढस बंधाने में लगा था।

शहीद विक्रम सिंह कुछ ही दिन पहले 13 मई को दो महीने की छुट्टी बिताकर गए थे। रविवार को विक्रम सिंह ने नौ बजे के आसपास घर पर पिता और भाइयों से बात की थी। अपने दो वर्षीय बेटे की तबियत का हालचाल लिया था। बेटे अंश की तबियत कुछ दिन से ठीक नहीं थी। पिता और भाइयों को क्या पता था कि विक्रम सिंह से आखिरी बार बात हो रही है। बातचीत के कुछ ही घंटों बाद रात 12 बजे के लगभग विक्रम सिंह की शहादत की खबर आ गई। आंतिकयों से मुकाबला करते हुए एक गोली विक्रम के पैर में लग गई थी। इलाज के लिए उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया न जा सका।

Comments

Most Popular

To Top