Army

तिरछा हेडगियर है गोरखा सैनिकों की पहचान… ! जानें इससे जुड़ी 4 खास बातें

कुछ सैनिकों के हैट (HAT) का स्ट्रैप ठीक होठों के नीचे तक बंधा होना अक्सर हैरान करता है क्योंकि ज्यादातर हैट का स्ट्रैप ठुड्डी पर बांधते हैं। पूर्व सेनाध्यक्ष दलबीर सिंह सुहाग के हैट पहने तस्वीर के लोकप्रिय होने के बाद ये सवाल अक्सर लोगों के जेहन में आता है। लेकिन आखिर क्या है इस तिरछे हैट का राज आइये जानते हैं :-





इस वजह से ठुड्डी पर कसा होता है हैट

हैट के स्ट्रैप को होठों में नीचे कसने के पीछे अलग-अलग किस्से, वजह और दलीलें हैं। सबसे ज्यादा तर्कसंगत लगता है इसका वह व्यावहारिक पहलू जब हैट पहने हुए सैनिक का पाला दुश्मन से पड़ता है। इस तरह की आशंका बनी रहती है कि दुश्मन कहीं सैनिक के पीछे से हैट को जोर से खींच कर उसके स्ट्रैप से गला न कस दे। जैसे कि गले में रस्सी लपेट कर फंदे की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। ये उन परिस्थितियों में हो सकता है जब हैट का स्ट्रैप ठुड्डी पर कसा हो। होठों के नीचे तक ही स्ट्रैप होने पर अगर कोई पीछे से हैट को अपनी तरफ खींचेगा तो हैट आसानी से आगे की तरफ खिसक जाएगा लिहाजा हैट खींचने वाले के हाथ में हैट आ जाएगा। ऐसे में स्ट्रैप के गला कसने की परिस्थितियां पैदा ही नहीं होंगी।

Comments

Most Popular

To Top