Army

सेना के जवानों का रक्षा कवच बनेगी यह बुलेट प्रूफ जैकेट

बुलेट प्रूफ जैकेट
बुलेट प्रूफ जैकेट (सौजन्य- गूगल)

कानपुर। भारतीय सेना को एक ऐसी अभेद्य जैकेट समर्पित की गई है जो जवानों के लिए रक्षा कवच साबित होगी। कानपुर की रक्षा उत्पाद बनाने वाली डिफेंस यूनिट रक्षा सामग्री एवं भंडार अनुसंधान तथा विकास स्थापना (DMSRDE) के मुताबिक यह बुलेट प्रूफ जैकेट 360 डिग्री कोण से सैनिकों का कवच बनकर उनकी रक्षा करेगी।





गौरतलब है कि प्रथम परमाणु परीक्षण दिवस की याद में DMSRDE प्रतिवर्ष इसे राष्ट्रीय तकनीकी दिवस के रूप में मनाता है और हर साल अपने किसी नए अनुसंधान को बतौर तोहफा देश को समर्पित करता है। बुलेट प्रूफ जैकेट इसकी कड़ी का हिस्सा है।

संस्थान के वैज्ञानिकों के अनुसार पांच वर्ष के गहन शोध के बाद इसे तैयार किया गया है। इस जैकेट की विशेषता यह है कि इसमें ऊपर की तरफ बोरान कर्बाइड की प्लेट लगाई गई है और अंदर की ओर इसमें अल्ट्रा पॉलीथिएलीन पॉलीमर की प्लेट लगाई गई है। इससे हार्ड स्टील कोर बुलेट भी इसे भेद नहीं सकती है। यह जैकेट अन्य देशों की जैकेटों की तुलना में हल्की, मजबूत और सख्त है।

रक्षक न्यूज की राय:

रक्षा अनुसंधान और विकास स्थापना से जुड़े वैज्ञानिकों की सोच व मेहनत का ही फल है कि सरहद की रखवाली और आतंकवादियों- सशस्त्र विद्रोहियों ले लोहा लेते हुए जवानों को बुलेट प्रूफ जैकेट का तोहफा मिला है। ‘मेक इन इंडिया’ का कार्यक्रम को इसी तरह तेजी से आगे बढ़ाकर अति आधुनिक साजो-सामान की जरूरत पूरी करना सभी रक्षा उत्पाद बनाने वाली कंपनियों का ध्येय होना चाहिए।

 

Comments

Most Popular

To Top