Army

घाटी में बढ़ सकते हैं और आतंकी हमले

आतंकी

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में आने वाले दिनों में आतंकवादी हमलों में और तेजी आ सकती है। इस साल अब तक घाटी के 131 युवाओं ने विभिन्न आतंकवादी संगठनों का हाथ थामा है और आतंकवाद का रास्ता पकड़ा है। इस बाबत कश्मीर से आई खुफिया रिपोर्ट बताती है कि अल कायदा ने घाटी में अपनी सक्रियता बढ़ाई है।





खबर यह भी है कि जिस तरह काफी संख्या में यहां के नौजवान आतंकी बन रहे हैं उससे आतंकी संगठनों के पास हथियारों की कमी हो रही है। सेना को इस बात की जानकारी है कि इसके लिए वे सेना तथा पुलिस पर हमले की तैयारी कर रहे हैं।

इस वर्ष आतंकी बने युवकों में सर्वाधिक संख्या दक्षिण कश्मीर जिले के शोपियां की है। यहां से 35 युवा आतंकवादी बने हैं। पुलिस अधिकारियों के अनुसार कई युवा अंसार गजवत-उल-हिंद में शामिल हो रहे हैं। ये गुट अल कायदा के समर्थन का दावा करता है। इस गुट का नेता जाकिर मूसा है। वह पढ़ा-लिखा है और इसका इस्तेमाल युवाओं को बरगलाने में करता है। वह 24 साल की उम्र में इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़कर आतंकी बना था।

पुलिस सूत्रों के अनुसार भले ही इस गुट का घाटी में ज्यादा आधार न हो पर इसकी लोकप्रियता गांव-गांव में बढ़ रही है। आपको याद दिला दें कि इस वर्ष 31 जुलाई तक 131 कश्मीरी आतंकवाद की डोर थाम चुके हैं जबकि पिछले साल कुल 117 आतंकवादी बने थे। वर्ष 2016 में यह संख्या 88 थी।

Comments

Most Popular

To Top