Air Force

स्पेशल रिपोर्टः भावी युद्धों में पश्चिमी वायुसैनिक कमांड की होगी अहम भूमिका

एयर चीफ मार्शल धनोआ
एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना को एक क्षमतावान अंतरिक्ष वैमानिकी ताकत बनाने के लिये वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने आधुनिक तकनीक के समावेश और इसके लिये मानव संसाधन की समुचित ट्रेनिंग पर जोर दिया है।





यहां पश्चिम वायुसैनिक कमांड के स्टेशन कमांडरों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए वायुसेना प्रमुख  ने कहा कि वायुसेना के सभी मंचों और शस्त्र प्रणालियों की मिशन क्षमता बढ़ाई जानी चाहिये। वायुसेना की ढांचागत सुविधाओं की समुचित देखभाल पर जोर देते हुए वायुसेना प्रमुख ने कहा कि भविष्य के सभी युद्धों में पश्चिमी वायुसैनिक कमांड की अहम भूमिका होगी। उन्होंने कहा कि मानवीय सहायता मिशनों औऱ प्राकृतिक आपदा राहत मिशनों के दौरान भी पश्चिमी वायुसैनिक कमांड के दायित्व बढ़ गए हैं। हाल के वक्त में प्राकृतिक आपदाओं के दौरान राहत व बचाव कार्यों में वायुसेना के योगदान की उन्होंने सराहना की।

स्टेशन कमांडरों से उन्होंने कहा कि इस साल किये गए गगनशक्ति युद्धाभ्यास के दौरान जो पाठ मिले हैं उनके अनुरूप अपनी योजना में और सुधार करें। देश के मौजूदा आंतरिक सुरक्षा माहौल के मद्देनजर सभी वायुसैनिक स्टेशनों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने की जरूरत भी वायुसेना प्रमुख ने बताई।

युद्ध के लिये वायुसेना की समुचित तैयारी की भी समीक्षा स्टेशन कमांडरों के सम्मेलन में की गई। इस दौरान वायुसेना में साइबर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के नये उपायों पर भी चर्चा की गई।

सम्मेलन शुरु होने के पहले चीफ गेस्ट के तौर पर पहुंचे एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ की अगवानी पश्चिमी वायुसैनिक कमांड के एयर आफीसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल सी हरिकुमार ने उनकी सलामी गारद के साथ अगवानी की।

एयर चीफ मार्शल धनोआ के साथ उनकी पत्नी और वायुसेना पत्नी कल्याण संघ (आफवा) की अध्यक्ष श्रीमती कमलप्रीत धनोआ भी वहां मौजूद थीं जिन्होंने आफवा के बोर्ड आफ मैनैजमेंट की बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने स्थानीय आफवा द्वारा संचालित विभिन्न कल्याण गतिविधियों की समीक्षा की।  उन्होंने पश्चिमी वायुसैनिक कमांड की संगिनी महिलाओं के साथ भी बातचीत की।

Comments

Most Popular

To Top