Army

स्पेशल रिपोर्ट: पीसफुल मिशन अभ्यास में चीन और पाक सैनिकों के साथ भारतीय सैनिक 

India-China-Pak Joint Exercise

नई दिल्ली। शांधाई सहयोग संगठन के तहत सदस्य देशों के साझा सैनिक अभ्यास एक्सरसाइज पीसफुल मिशन में भाग लेने के लिये भारतीय सैनिक तैयारी में जुटे हैं। इस अभ्यास में अन्य देशों के साथ चीन और पाकिस्तान के सैनिकों के साथ भी भारतीय सैनिक कंधे से कंधा मिलाकर साझा सैन्य अभ्यास करेंगे।





एक्सर्साइज पीसफुल मिशन-2018 रूस के चेल्याबिंस्क में चेबारकुल इलाके में 22 अगस्त से आय़ोजित होगा। शांघाई सहयोग संगठन के सभी आठ सदस्य देशों के करीब तीन हजार सैनिक इस साझा अभ्यास में भाग लेंगे। शांघाई सहयोग संगठन के सदस्य के तौर पर भारत औऱ पाकिस्तान को इसी साल शामिल किया गया है इसलिये भारत और पाकिस्तान की सेनाएं पहली बार पीसफुल मिशन अभ्यास में भाग लेंगी।

इस अभ्यास में भारतीय सैन्य टुकड़ी में थलसेना के 167 जवान और वायुसेना के 33 जवान भाग लेंगे। कुल दो सौ भारतीय सैनिकों का दल भारतीय वायुसेना के दो आईएल-76 विमानों पर रूस रवाना होगा। इसमें से एक विमान अभ्यास में शामिल होगा। भारतीय सैन्य टुक़ड़ी 14 अगस्त को रूस पहुंचेगी और 30 अगस्त को लौटेगी। इस अभ्यास में पाकिस्तान की सेना के 80 सैनिक भाग लेंगे। जबकि चीन की सेना के करीब छह सौ सैनिक रूस पहुंचेंगे।

अभ्यास के दौरान 27 अगस्त को भाग ले रहे सदस्य देशों की एक्सपर्ट्स वर्किंग ग्रुप मीटिंग होगी। इस बैठक में भारतीय सेना का शिष्टमंडल भाग लेगा। इस बैठक में सदस्य देशों के चीफ आफ जनरल स्टाफ की बैठक के लिये प्रोटोकाल तैयार किया जाएगा। इस बैठक में भारत की ओऱ से तीनों सेनाओं के एकीकृत स्टाफ के चीफ भाग लेंगे। बाद में चीफ जनरल स्टाफ के डेलीगेशन को अभ्यास के इलाके में ले जाया जाएगा। ये सभी अभ्यास पीसफुल मिशन के समापन समारोह के दौरान मौजूद रहेंगे।

Comments

Most Popular

To Top