Forces

स्पेशल रिपोर्ट: नौसैनिक अभ्यास ‘कटलैस एक्सप्रेस’ में भारतीय युद्धपोत ने लिया हिस्सा

INS त्रिकंड

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना के युद्धपोत आईएनएस त्रिकंड ने पश्चिमी हिंद महासागर में एक बहुराष्ट्रीय  नौसैनिक अभ्यास ‘कटलैस एक्सप्रेस- 2019’ में उल्लेखनीय योगदान दिया। यहां नौसैनिक अधिकारियों के मुताबिक यह अभ्यास 27 जनवरी से 06 फरवरी तक चला।





इस अभ्यास का इरादा भागीदार देशों की कानून पालन क्षमता को बेहतर करना, क्षेत्रीय सुरक्षा माहौल को बेहतर करना और भागीदार देशों  की सशस्त्र सेनाओं के बीच तालमेल स्थापित करना था ताकि पश्चिमी हिंद महासागर में गैरकानूनी समुद्री गतिविधियों पर रोक लगाई जाए। इस अभ्यास में कई पूर्व अफ्रीकी देशों की नौसेना, कोस्ट गार्ड  और समुद्री पुलिस बलों के कर्मी शामिल थे। इसमें प्रशिक्षक की भूमिका में भारतीय नौसेना ने उल्लेखनीय योगदान दिया। भारतीय नौसेना के अलावा अमेरिका और नीदरलैंड की नौसेना ने भी इसमें साथ दिया। इसमें अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन और यूरोपीय नेवल फोर्सेज भी अभ्यास की योजना बनाने और इसे लागू करने में सहयोग दिया।

आईएनएस त्रिखंड के जरिये भारतीय नौसेना ने विजिट, बोर्ड, सर्च एंड सीजर (VBSS)  के लिये मंच प्रदान किया। इस अभ्यास के तहत किसी संदिग्ध व्यापारिक पोत या मछलीमार नौका का औचक निरीक्षण किया जाता है। यह देखने के लिये किया जाता है कि संदिग्ध पोत का इस्तेमाल  किसी तरह की गैरकानूनी गतिविधि या आतंकवादी हरकतों के लिये तो नहीं किया जा रहा है।

यह अभ्यास दो चरणों में किया गया। पहले चरण का नाम कमांड पोस्ट एक्सर्साइज था जो 27 जनवरी से दो फरवरी तक चला। इसके तहत नौसैनिकों को वी बी एस एस के लिये प्रशिक्षित किया गया। इस दौरान अमेरिकी नौसेना और यूरोपीय नेवल फोर्सेज द्वारा इस्तेमाल में लाए जा रहे उपकरणों की जानकारी दी गई। इस दौरान पूर्व यूरोपीय नौसैनिकों को बताया गया कि किस तरह संदिग्ध पोत की छुपी हरकतों का पता लगाया जा सकता है।

अभ्यास का दूसरा चरण फाइनल ट्रेनिंग एक्सर्साइज था जो 3 से 5 फरवरी तक चला। इस दौरान बीच समुद्र में किसी संदिग्ध पोत पर सवार हो कर कार्रवाई के बारे में बताया गया। यह अभ्यास आईएनएस त्रिखंड पर चला।

पूरे अभ्यास के दौरान आईएनएस त्रिखंड जिबूती समुद्र तट पर ठहरा औऱ इस दौरान दूसरे देशों के नौसैनिकों से मेलजोल का मौका  भारतीय नौसैनिकों को मिला।  इसमें जापानी समुद्री आत्मरक्षा बल के पोत समीदारे, स्पेन के नौसैनिक पोत रेलामपोगा और अमेरिकी पोत चुंग हुन शामिल थे। इसके अलावा आईएनएस त्रिखंड के नौसैनिकों ने जिबूती पर अमेरिकी नौसैनिक अफसरों से मेलजोल किया। आईएनएस त्रिखंड की कमान कैप्टन श्रीनिवास मेडुला सम्भाल रहे थे। आईएनएस त्रिखंड नौसेना के पश्चिमी बेडे का युद्धपोत है।

Comments

Most Popular

To Top