Forces

Special Report: भारत-सिंगापुर नौसेना अभ्यास के 25 साल

Joint-Exercise-Singapore

नई दिल्ली। भारत और सिंगापुर की नौसेना के बीच साझा नौसैनिक अभ्यासों का सिलसिला इस साल रजत जयंती साल में प्रवेश कर गया। 19 नवम्बर को सिम्बेक्स- 18  के  मौके पर दोनों देशों के नौसैनिकों ने विशाखापतनम नौसैनिक अड्डे पर भारतीय नौसैनिक युद्धपोत आईएनएस सह्याद्री पर  रजत जयंती समारोह मनाया।





इस मौके पर भारतीय नौसैनाध्यक्ष एडमरिल सुनील लांबा और सिंगापुर के नौसेना प्रमुख रियर एडमिरल लयु च्योन  होंग के अलावा  पूर्वी नौसैनिक कमांड के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ वाइस एडमरिल करमबीर सिंह औऱ अन्य आला अफसर मौजूद थे।

Joint-Exercise-Singapore

पूर्वी नौसैनिक कमांड के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल दिनेश के त्रिपाठी ने  सिम्बेक्स के 25  वें साल के ऐतिहासिक मौके पर मेहमान नौसैनिकों का स्वागत किया। इस मौके पर नौसेना प्रमुख एडमिरल लांबा ने कहा कि भारत और सिंगापुर के बीच अब तक का सबसे लम्बा और बिना रुकावट के यह साझा नौसैनिक अभ्यास चला है। भारतीय नौसेना ने किसी दूसरी नौसेना के साथ अब तक ऐसा नहीं किया। इस साल जून में सिंगापुर में शांगरीला ड़ायलाग के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस साझा नौसैनिक अभ्यास की अहमियत बताई थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि दोनों देशों द्वारा साझा नौसैनिक अभ्यास का सिलसिला 25  सालों से जारी रहना इस बात का परिचायक है कि दोनों देशों की समुद्री नौवहन की आजादी,खुला समुद्र और समुद्री सुरक्षा को लेकर दोनों की साझी प्रतिबद्धता है। सिम्बेक्स -18  आकार, भौगोलिक इलाका और फायरिंग के नजरिये से अब तक का सबसे बड़ा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि सिंगापुर नौसेना का उद्देश्य वाक्य बियोंड होराइजन यानी क्षितिज से पार है जब कि भारतीय नौसेना का उद्देश्य वाक्य-  सम नो वरुण: –  है जिसका अर्थ है समुद्री देवता हम पर वरदहस्त रखें।

इस समारोह के मौके पर सिंगापुर की नौसेना के प्रमुख  एडमिरल  ल्यू चोन होंग ने कहा कि  दोनों देशों के बीच प्राचीन काल से ही तीसरी और चौथी सदी से  ऐतिहासिक आदान प्रदान रहा है। उन्होंने कहा कि सिंगापुर और भारत समान विचार वाले देश हैं जिनके समुद्री आजादी और सुरक्षा को लेकर समान विचार हैं। अब भारत और सिंगापुर के बीच साझा नौसैनिक रिश्तों का मुख्य आधार सिम्बे्क्स  है  जिसकी शुरुआत 1994 से हुई थी। तब दोनों देशों ने यह साझा अभ्यास पनडुब्बी नाशक अभ्यास से शुरूकिया था। तब से लायन किंग के नाम से ज्ञात सिंगापुर नौसेना लगातार ताकतवर होती गई है। सिम्बेक्स- 18  में सिंगापुर नौसेना की अब तक की सबसे बड़ी भागीदारी है।

यादगार के तौर पर इस मौके पर एक स्पेशल लोगो जारी किया गया।  सिंगापुर नौसेना ने  सिम्बेक्स पर एक डाक टिकट जारी किया और भारतीय नौसेना ने एक विशेष डाक आवरण जारी किया।

Comments

Most Popular

To Top