Army

सैनिक डेयरी फार्म खाली होने शुरू, टोकन अमाउंट पर बेची जा रही हैं गायें

सेना डेयरी फार्म

लखनऊ। रक्षा मंत्रालय ने पिछले वर्ष 39 सैनिक डेयरी फार्म बंद करने का फैसला किया था। अब इन डेयरी फार्म को खाली करवाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इन डेयरी फार्म में रहने वाली गायों को टोकन अमाउंट पर बेचा जा रहा है। दरअसल पहले इन गायों को नीलामी के जरिए बेचने की कोशिश की गई थी लेकिन प्रयास सफल नहीं हो पाया।





अब एक-एक लाख रुपये की कीमत वाली गायें महज एक हजार रुपये के टोकन अमाउंट पर बेची जा रही हैं। इसीके तहत लखनऊ कैंट में दिलकुशा कोठी के पास स्थित सैनिक डेयरी फार्म की गायें उत्तराखंड भेजी जा रही हैं। एक अखबार में प्रकाशित खबर के अनुसार इस फार्म की सभी 1,100 गायें 1,000 रुपये के हिसाब से उत्तराखंड भेजी जा रही हैं। दिलचस्प यह कि सैनिक डेयरी फार्म की इन गायों की औसतन कीमत एक लाख रुपये आंकी गई हैं। अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि डेयरी फार्म की 1,100 गायों में से 900 गायें भेजी जा चुकी हैं। सेना अधिकारियों का कहना है कि उत्तराखंड सरकार किसानों को ये गायें इतनी ही कीमत में देगी।

बता दें कि पिछले वर्ष अगस्त में रक्षा मंत्रालय ने इन डेयरी फार्म को बंद करने का फैसला किया था लेकिन गायों को कहां रखा जाये या कहां स्थानांतरित किया जाये इस पर फैसला होने में समय लग गया। आखिरकार तय हुआ कि देशभर के 39 डेयरी फार्म की 25,000 गायों को राज्य सरकार की सहकारी डेयरियों को टोकन अमाउंट पर दे दिया जाये। बता दें कि सेना के जवानों को बढ़िया क्वालिटी का दूध मुहैया करवाने के लिए वर्ष 1889 में देशभर में 39 फार्म खोले थे। अब इन्हें खाली करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। फार्म खाली होने के बाद लगभग 20 हजार एकड़ जमीन खाली हो जाएगी। इन फार्म में तैनात जवानों और अन्य कर्मचारियों को दूसरे विभागों में समायोजित किया जा रहा है।

 

Comments

Most Popular

To Top