Forces

बड़ी छलांगः भारत में निर्मित यह शिप न्यूक्लियर मिसाइलों को भी करेगा ट्रैक

VC11184 शिप

विशाखापट्टनम। न्यूक्लियर मिसाइलों को ट्रैक करना अब आसान होगा। दरअसल भारत ऐसे जहाज का निर्माण कर रहा है जो न्यूक्लियर मिसाइलों को ट्रैक करने में सक्षम होगा। एक अंग्रेजी अखबार इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक यह जहाज नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (NTRO) को दिसंबर तक सौंप दिया जायेगा। देश में बन रहा यह शिप दुश्मन की बैलिस्टिक मिसाइल को मार गिराने की क्षमता हासिल करने में बड़ा कदम साबित होगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘मेक इन इंडिया’ के तहत इस तरह का विमान बनाने का आदेश दिया था। महज चार वर्ष के भीतर यह जहाज बनकर लगभग तैयार है।





अखबार के मुताबिक इस समुद्री निगरानी शिप को अभी VC11184 नाम दिया गया है। फिलहाल शिप परीक्षण अवस्था में है। नौसेना और NTRO समुद्र में इस शिप का जल्द ही परीक्षण करेंगे।

हिन्दुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर रियर एडमिरल एलवी सरत बाबू के मुताबिक बेसिन ट्रायल पूरा हो चुका है तथा दिसंबर में इसे सौंपने से पहले कई और परीक्षण किए जाएंगे।

जानकारों के मुताबिक यह शिप न सिर्फ दुश्मन की न्यूक्लियर मिसाइलों को ट्रैक कर पाएगा बल्कि स्वदेश निर्मित मिसाइलों को भी परीक्षण के दौरान आसानी से ट्रैक कर पायेगा। 15 टन वजनी इस शिप के निर्माण में 725 करोड़ रुपये की लागत आई है। दुश्मन को भनक न लगे इसलिए इस शिप का निर्माण गोपनीय ढंग से किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top