Army

सेना के तीन अफसरों और एक जवान को शौर्य चक्र

गोरखा-रायफल्स-के-लांस-हवलदार-प्रेम-बहादुर-रेश्मी-मगर

नई दिल्ली। राष्ट्रपति भवन में गुरुवार (6 अप्रैल) को हुए रक्षा सम्मान समारोह में सेना के तीन अफसरों और एक जवान को सर्जिकल स्ट्राइक के लिए शौर्य चक्र दिया गया। इस दौरान एक कीर्ति चक्र, 13 शौर्य चक्र, 15 परम विशिष्ट सेवा मेडल और दो उत्तम युद्ध सेवा मेडल दिए गए। गोरखा रायफल के लांस हवलदार प्रेम बहादुर रेश्मी को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया। यह मेडल उनकी पत्नी को दिया गया।





13 शौर्य चक्रों में से 4 मरणोपरांत दिए गए। जम्मू कश्मीर पुलिस के हेड कांस्टेबल संजवान सिंह, राष्ट्रीय राइफल्स के नायब सूबेदार के. वी. सुब्बा रेडडी, नायक गावडे पांडुरंग महादेव और एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन ई के को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। पांडुरंग महादेव का शौर्य चक्र राष्ट्रपति ने उनकी पत्नी और मां को दिया।

गावडे-पांडुरंग-महादेव-की-पत्नी-मां

नायक गावडे पांडुरंग महादेव को मरणोपरांत मिला शौर्य चक्र

 

हेडकॉन्स्टबेल-संजवान-सिंह

J & K पुलिस के हेडकॉन्स्टबेल संजवान सिंह को मरणोपरांत शौर्य चक्र


कब हुआ था सर्जिकल स्ट्राइक?

  • 18 सितंबर को सीमापार से आए 4 आतंकियों ने उड़ी में आर्मी हेडक्वार्टर पर हमला किया था। इसमें 19 जवान शहीद हो गए थे।
  • हमले के 10 दिन बाद (28 सितंबर की रात) आर्मी ने पहली बार LoC पार की। पीओके में घुसकर 4 आतंकी ठिकाने तबाह किए थे।
  • इस ऑपरेशन में लगभग 40 आतंकी मारे गए और कई जंगल में भाग गए थे। ऑपरेशन को आर्मी के पैरा कमांडो ने अंजाम दिया था।
  • इस सर्जिकल स्ट्राइक उड़ी हमले का जवाब माना गया। अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों ने आतंक के खिलाफ भारत के सर्जिकल स्ट्राइक का समर्थन किया।

Comments

Most Popular

To Top