Forces

उड़ी हमला दोहराने की फिराक में थे आतंकी, मुठभेड़ में ढेर

श्रीनगर।  आतंकवादी अपनी योजना को अंजाम दे पाते उससे पहले ही सेना और सुरक्षा बलों ने उन्हें मुठभेड़ में मार गिराया। मारे गये आतंकवादी उड़ी हमले की तरह ही हमला करने की फिराक में थे, लेकिन सेना और सुरक्षाबलों ने मिलकर उनकी साजिश नाकाम कर दी। मारे गये आतंकवादियों की संख्या तीन बताई गई है।





जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक उत्तर कश्मीर के बारामूला जिले के उड़ी में सेना के बेस कैंप पर हमला करने के इरादे से तीन आतंकी आए थे। तीनों आतंकी आत्मघाती हमला करने की मंशा से आए थे। शनिवार रात को क्षेत्र में हथियारबंद आतंकी देखे जाने की सूचना मिली। पहले ही सूचना मिल जाने से सेना और सुरक्षा बलों को अलर्ट कर दिया गया कि आतंकी आत्मघाती हमले की वारदात कर सकते हैं। सेना और सुरक्षा बलों ने क्षेत्र की सुरक्षा कड़ी कर दी।

आतंकी कलगी गांव में छिप गए। देर रात सेना ने उनकी घेराबंदी कर ली। खुद को घिरा देख आतंकियों ने तड़के गोलीबारी शुरू कर दी। सेना और सुरक्षाबलों ने भी जवाब देना शुरू किया। मुठभेड़ घंटों चली। लगभग दिन भर चले अभियान में अंततः तीनों आतंकी मारे गए। इस दौरान दो मकानों को भी नुकसान हुआ। मारे गए तीनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। घटनास्थल से भारी मात्रा में गोला-बारूद भी बरामद हुआ है।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष सितंबर महीने की 18 तारीख को लश्कर-ए-तैयबा के ही चार आतंकियों ने उड़ी में सैन्य शिविर पर हमला किया था। उस हमले में सेना के 19 जवान शहीद हो गए थे। सेना ने चारों आंतकियों को मार गिराया था। इस वर्ष भी आतंकी वैसी ही वारदात दोहराने की फिराक में थे लेकिन सेना और सुरक्षा बलों ने उसे नाकाम कर दिया।

Comments

Most Popular

To Top