DEFENCE

एसके चौरसिया ‍ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के बने महानिदेशक

‍ऑर्डिनेंस फैक्ट्री

नई दिल्ली। सुनील कुमार चौरसिया, आईओएफएस, को 1 दिसंबर से आयुध निर्माणी (डीजीओएफ) का महानिदेशक, एवं आयुध निर्माणी बोर्ड (ओएफडी) का अध्‍यक्ष नियुक्‍त किया गया है। इससे पहले वह सदस्‍य, आयुध निर्माणी थे तथा सामग्री एवं कलपुर्जा विभाग का कार्यभार देख रहे थे।





जबलपुर से यांत्रिक इंजीनियरिंग में स्‍नातक की डिग्री लेने के पश्‍चात उन्‍होंने आईआईटी खड़गपुर से एम टेक की डिग्री ली। सुनील चौरसिया ने 1981 में भारतीय आयुध निर्माणी सेवा में पर्दापण किया। भारत सरकार ने एमबीए करने के लिए उन्‍हें संयुक्‍त गणराज्‍य भेजा। इसके बाद चौरसिया सेवाकालीन प्रशिक्षण के दौरान भारतीय लोक प्रशासन संस्‍थान नई दिल्‍ली में थे तथा उन्‍हें एमफिल की डिग्री प्रदान की गई।

आयुध निर्माणी संगठन में अपने सेवाकाल के दौरान उन्‍होंने उत्‍पादन तथा परिचालन प्रबंधन, शस्‍त्र तथा गोला बारूद्ध निर्माण में बहुत समृद्ध एवं विविध अनुभव हासिल किया। उन्‍होंने अपने सरकारी कार्य से विश्‍व भर का व्‍यापक भ्रमण किया है।

उप सचिव के रूप में कार्य करने के बाद उन्होंने रक्षा मंत्रालय में निदेशक के रूप में काम किया। 2002 से 2005 तक सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों में वह मुख्‍य सतर्कता अधिकारी थे। 2005 से 2008 तक उन्‍होंने केन्‍द्रीय सतर्कता आयोग में विभागीय जांच हेतु निदेशक एवं आयुक्‍त के पद का कार्यभार संभाला। आयुध निर्माणी बोर्ड के सदस्‍य के रूप में कार्यभार संभालने से पूर्व वह त्रिची में हैवी एलोय पेनेट्रेटर प्रोजेक्‍ट के महाप्रबंधक तथा आयुध निर्माणी, कानपुर के वरिष्‍ठ महाप्रबंधक थे। सुनील कुमार चौरसिया समस्‍याओं का सामना करने तथा उनके व्‍यावहारिक हल पेश करने के लिए विख्‍यात हैं।

Comments

Most Popular

To Top