Listicles

‘RPF’ की वजह से इसलिए है पटरी पर भारतीय रेल, जानिए इससे जुड़ी 7 अहम बातें  

रेल में तैनात सुरक्षाकर्मी जिन्हें आप और हम रेलवे स्टेशनों पर अपना फर्ज निभाते देखते हैं। ट्रेन को सुरक्षित ढंग से लाने-ले जाने, यात्रियों के समान की देखरेख और ट्रेन में संदिग्ध वस्तुओं और लोगों पर पैनी नजर रखना आदि कार्यभार इन्हीं के जिम्मे होता है। इस बल को ‘रेलवे सुरक्षा बल (RPF)’ कहा जाता है। अपने कर्तव्य का पालन ‘आरपीएफ’ पूरी निष्ठा और कड़ी मेहनत से करती है। इनका आदर्श वाक्य ही ‘सेवा और निष्ठा’ से जुड़ा है। रेलवे की सुरक्षा और सुगमता में इनका अहम रोल है। आईये जानते हैं ‘रेलवे सुरक्षा बल’ से जुड़ी खास बातें-





बेहद पुराना है ‘आरपीएफ’ का इतिहास      

भारत का पुराना स्टेशन

‘आरपीएफ’ का इतिहास बेहद पुराना है जो 19वीं शताब्दी अर्थात अंग्रेजों के समय काल से शुरू हुआ। जब सन् 1854 में ईस्ट इण्डिया कम्पनी में रेलवे गुड्स की सुरक्षा और रेल क्षेत्रों में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ लोगों का संगठन बनाया गया था जिसे शुरू में ‘पुलिस’ कहा गया।

Comments

Most Popular

To Top