Army

जवान मैथ्यू को आत्महत्या के लिए किसने उकसाया था!

जवान-रॉय-मैथ्यू

मुंबई। भारतीय सेना की मानें तो नासिक के आर्टिलरी सेंटर की बैरक में आत्महत्या करने वाले लांस नायक रॉय मैथ्यू के मामले में एक पत्रकार की भूमिका है। सेना की ओर से नासिक में एक न्यूज वेबसाइट की महिला पत्रकार और एक सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी पर आपराधिक केस दर्ज कराया गया है। सेना का कहना था कि पत्रकार न सिर्फ बिना इजाजत आर्मी कैम्प में घुसी बल्कि चोरी से वीडियो बना लिया था। इसके अलावा उसने मैथ्यू से ऐसे सवाल पूछे कि वह अपनी जान देने पर मजबूर हो गया। नासिक पुलिस ने ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट, अवैध तरीके से घुसपैठ और आत्महत्या के लिए मजबूर करने के तहत मामला दर्ज किया गया है। सैन्य अधिकारी पर पत्रकार की मदद करने का आरोप है।





गौरतलब है कि नासिक के आर्टिलरी सेंटर में पिछले दो मार्च को सैनिक रॉय मैथ्यू का फांसी लगा हुआ सड़ा-गला शव बैरक में मिला था। मैथ्यू गत 25 फरवरी से लापता था। उल्लेखनीय है कि एक वेबसाइट के स्टिंग ऑपरेशन में मैथ्यू ने बडीज ड्यूटी के नाम पर जवानों के साथ हो रहे शोषण की बात का उल्लेख किया था।

इसके बाद ये यह जवान तनाव में रहने लगा और उसने आत्महत्या कर ली। उल्लेखनीय है कि पत्रकार ने सेवानिवृत्त अधिकारी दीपचंद की मदद से आर्टिलरी क्षेत्र में शूटिंग की मनाही होने के बाद भी शूटिंग करके वीडियो को वायरल कर दिया। वीडियो के वायरल होने के बाद से ही मैथ्यू तनाव में आ गया और आत्महत्या कर ली। पत्रकार और सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी दीपचंद के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top