Army

शहीदों के लिए अक्षय कुमार की अनूठी पहल, आर्थिक मदद के लिए ‘भारत वीर’ तैयार

अक्षय कुमार

नई दिल्ली: अभिनेता अक्षय कुमार ने कुछ समय पहले शहीदों के लिए एक ऐसा वेब पोर्टल बनाने पर लोगों की राय मांगी थी जिसके माध्यम से उनके परिजनों को सीधा आर्थिक मदद पहुंचाई जा सके। उनकी यह मुहिम रंग लाई और अब गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अक्षय कुमार मिलकर 9 अप्रैल को वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप लांच करेंगे। इसको ‘भारत वीर’ नाम दिया गया है। इस मौके पर गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू भी मौजूद रहेंगे। एक अधिकारी ने बताया कि वेबसाइट टेस्टिंग मोड में है और इसे सीआरपीएफ के ‘शौर्य दिवस’ पर यानि नौ अप्रैल को लांच किया जाएगा। इस वेबसाइट को तकनीकी सहयोग नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर (NIC) से मिलेगा और यह स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा संचालित है।





इस वेबसाइट पर शहीद की जानकारी, उनकी शहादत की कहानी, उनका पता, उनकी आर्थिक स्थिति से जुड़ी जानकारी, परिजनों की जानकारी, परिजनों में से किसी एक के बैंक खाते का वैरीफाइड नंबर अपलोड रहेगा। लोग अपनी सामर्थ्य के हिसाब से सीधा उनके खाते में रकम जमा करा सकेंगे। किसी भी शहीद के परिजनों को अधिकतम आर्थिक मदद 15 लाख रूपये मिल सकेगी। 15 लाख का आंकड़ा पार होने के बाद डोनेशन सूची से शहीद का डाटा अपने आप हट जाएगा।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अक्षय कुमार (फाइल फोटो)

वेबसाइट पर उन जवानों की भी जानकारी उपलब्ध रहेगी जो गंभीर रूप से घायल हैं और जिनका उपचार चल रहा है या फिर जिन्हें और उपचार की जरूरत है। लोग ऐसे जवानों के लिए भी सीधे उनके खाते में रकम डाल सकेंगे। सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, एनएसजी और अन्य पैरामिलिट्री फोर्सेज के शहीद जवान और घायल जवानों की जानकारी पोर्टल पर अपलोड करने/करवाने के लिए एक नोडल ऑफिसर की नियुक्ति की गई है।

अक्षय कुमार ने कुछ इस तरह से शहीदों के परिजनों को डोनेशन देने के लिए वेब पोर्टल पर मांगी थी राय

गौरतलब है कि 11 मार्च 2017 को सुकमा में शहीद हुए सीआरपीएफ के 12 जवानों के लिए अक्षय कुमार ने सभी जवानों के परिजनों को 9-9 लाख रुपए दिए थे। उसके कुछ दिन बाद भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने भी 50-50 हजार रुपए प्रति जवान के परिजनों को दिए थे।

शहीद सीआरपीएफ के परिजनों के लिए आगे आए अक्षय कुमार

आपको बता दें कि इसके पहले इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर अक्षय ने फेसबुक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा था कि सभी भारतीय बिना किसी रोक टोक के शहीद जवानों के परिवार की मदद कर सकें इसलिए मैं एक वेबसाइट-ऐप बनाना चाहता हूं। उन्होंने इसके लिए अपने फैंस से विचार भी मांगे थे।

Comments

Most Popular

To Top