DEFENCE

प्रधानमंत्री मोदी सिंगापुर के चांगी नौसैनिक अडडे पर जाएंगे

पीएम नरेंद्र मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी (सौजन्य- गूगल)

नई दिल्ली। सिंगापुर में एक से तीन जून तक आयोजित शांगरीला डायलाग के नाम से विख्यात एशियाई सुरक्षा शिखर बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुख्य भाषण देंगे। 17 साल से आयोजित हो रहे इस सुरक्षा सम्मेलन में पहली बार किसी भारतीय प्रधानमंत्री को की-नोट एड्रेस के लिये आमंत्रित किया गया है।





प्रधानमंत्री मोदी के भाषण से शुरू होगा सुरक्षा सम्मेलन 

इस सुरक्षा सम्मेलन में अमेरिका, आस्ट्रेलिया आदि कई अग्रणी देशों के रक्षा मंत्री भाग लेते हैं। सम्मेलन की शुरूआत एक जून की शाम को प्रधानमंत्री मोदी के सम्बोधन से शुरू होगी। माना जा रहा है कि इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री हिंद प्रशांत इलाके में सुरक्षा मसलों पर अपना अहम नीतिगत बयान देंगे। सम्मेलन में एशिया प्रशांत इलाके की सुरक्षा चुनौतियों पर विशेष चर्चा होगी। सम्मेलन में दक्षिण चीन सागर में चल रहे मौजूदा विवाद की पृष्ठभूमि में समुद्री आचार संहिता और परस्पर विश्वास पैदा करने के नये उपायों पर भी चर्चा होगी। इसमें हिंद महासागर में प्रतिस्पर्धा औऱ सहयोग के बारे में भी विशेषज्ञ अपने विचार रखेंगे।

दक्षिण चीन सागर के निकट है चांगी नौसैनिक अड्डा

सिंगापुर दौरे में प्रधानमंत्री मोदी का सिंगापुर के चांगी नौसैनिक अड्डे का अहम दौरा होगा। उल्लेखनीय है कि सिंगापुर ने अपने चांगी नौसैनिक अड्डे की सुविधाएं भारतीय नौसेना को देने पर सहमति दी है। पिछले साल नवम्बर में भारत औऱ सिंगापुर के रक्षा मंत्रियों की वार्ता में चांगी नौसैनिक अड्डे की सुविधाएं भारतीय नौसैनिक पोतों को मुहैया कराने पर सहमति हुई थी। अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का इस नौसैनिक अड्डे का दौरा करना काफी अहम माना जा रहा है। चांगी नौसैनिक अड्डा दक्षिण चीन सागर के नजदीक है जहां भारतीय नौसैनिक पोतों को ठहरने की सुविधा चीन के लिये चिंता पैदा कर सकता है।

सिंगापुर के समुद्री इलाके में अभ्यास कर सकेगी भारतीय नौसेना

चांगी नौसैनिक अड्डे पर भारतीय नौसैनिक पोतों के ठहरने की सुविधा से भारत सिंगापुर औऱ अन्य दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के साथ समुद्री सुरक्षा में अपना सहयोग बढ़ा सकता है। पिछले साल भारत दौरे में सिंगापुर के रक्षा मंत्री अंग एंग हेन ने कहा था कि वह भारतीय नौसैनिक पोतों को चांगी नौसैनिक अड्डे के दौरे के लिये उत्साहित करेंगे। उन्होंने कहा था कि हम भारतीय समुद्री इलाके में नौसैनिक अभ्यास औऱ गश्त करेंगे औऱ उसी तरह भारतीय नौसेना भी सिंगापुर के समुद्री इलाके में अभ्यास औऱ गश्त कर सकेगी।

29 मई को इंडोनेशिया जाएंगे प्रधानमंत्री मोदी

सिंगापुर दौरे के पहले प्रधानमंत्री मोदी 29 मई को जकार्ता भी जाएंगे जहां इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ द्विपक्षीय बातचीत के बाद भारत और इंडोनेशिया के साथ रक्षा सहयोग के नये समझौते पर हस्तातक्षर होंगे। दोनों देशों के बीच पिछला समझौता 2001 में हुआ था जिसे दोनों देश अब औऱ विस्तार देंगे। उल्लेखनीय है कि इंडोनेशिया भारत का सबसे निकटतम समुद्री पड़ोसी है औऱ दोनों देश अपने साझा समुद्री इलाके में साझा नौसैनिक गश्त भी करते हैं।

यहां विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि भारत और इंडोनेशिया के बीच समुद्री इलाके की स्थिति जानने के लिये परस्पर सहयोग का समझौता भी होगा। पर्यवेक्षकों के मुताबिक इस समझौते से दोनों देश समुद्री सुरक्षा मजबूत करने में आपसी सहयोग को गहरा कर सकेंगे।

 

Comments

Most Popular

To Top