DEFENCE

पाकिस्तान के पास ज्यादा परमाणु हथियार, लेकिन पलटवार के मामले में भारत आगे

पाक के न्यूक्लियर वेपन
पाकिस्तान के न्यूक्लियर वेपन (सौजन्य- गूगल)

नई दिल्ली। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) की एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के पास भारत से ज्यादा परमाणु हथियार हैं। सोमवार को जारी इस रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के पास 140-150 परमाणु हथियार हैं। भारत के पास कुल 130-140 परमाणु हथियार हैं। भारत के अन्य पड़ोसी चीन के पास 280 परमाणु हथियार हैं। हालांकि सुरक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि पाकिस्तान के पास भले ही ज्यादा परमाणु हथियार हों लेकिन भारत की प्रतिरोधक क्षमता ज्यादा मुकम्मल है। निगरानी क्षमता और पलटवार करने के मामले में भी भारत आगे है।





इस रिपोर्ट के अनुसार एशिया के इन तीनों देशों ने अपने परमाणु हथियारों की संख्या बढ़ाई है। तीनों ही देश अब उन्नत और छोटे परमाणु हथियारों के विकास पर जोर दे रहे हैं। चीन के परमाणु हथियारों की संख्या इस वर्ष बढ़कर 280 तक पहुंच गई है। पिछले वर्ष उसके पास 270 परमाणु हथियार थे। कुछ ही महीने पहले चीन ने अपना रक्षा बजट बढ़ाने की घोषणा की थी। चीन ने पिछले वर्ष सेना पर 228 अरब डॉलर खर्च किए। रक्षा बजट के मामले में चीन अमेरिका (610 अरब डॉलर) के बाद दूसरे नंबर पर है।

भारत और पाकिस्तान ने भी बीते एक वर्ष में परमाणु हथियारों के अपने जखीरे में 10-10 परमाणु हथियार बढ़ाए हैं। हालांकि कोई भी परमाणु हथियार मिसाइलों में नहीं लगाया गया है। भारत पहले परमाणु हथियार इस्तेमाल नहीं करने की नीति का पालन करता है।

अन्य देशों की बात की जाए तो अमेरिका इस एक वर्ष में अपने परमाणु हथियारों की संख्या 6800 से घटाकर 6480 पर ले आया है। रूस ने भी अपने परमाणु हथियार कम किए हैं। उसके पास अब 6850 परमाणु हथियार हैं। पिछले वर्ष उसके पास 7000 परमाणु हथियार थे। वैसे दुनिया के नौ परमाणु हथियार संपन्न देशों की बात की जाए तो उनके पास 14,465 परमाणु हथियार हैं। बीते वर्ष यह आंकड़ा 14,935 पर टिका था। यानी इस एक वर्ष में 470 परमाणु हथियार कम हुए हैं। वैसे 92 फीसदी परमाणु हथियार रूस और अमेरिका के पास हैं।

SIPRI के गवर्निंग बोर्ड के चेयरमैन जेन इलिसन परमाणु प्रतिरोधक क्षमता हासिल करने के बढ़ते ट्रेंड को चिंताजनक मानते हैं। उनका मानना है कि परमाणु हथियार निरस्त्रीकरण की तरफ बढ़ने के लिए एक प्रभावी, कानून रूप से बाध्यकारी प्रक्रिया की जरूरत है।

 

Comments

Most Popular

To Top