Army

सिपाही के रूप में सेना में रखा कदम, अब लेफ्टिनेंट बन पूरा किया सपना

झज्जर।   9 साल पहले सेना में  सिपाही बने रवि ने सेना में कदम रखते हुए बहत से सपने देखे थे। जिनमें एक सपना था उसका सेना में लेफ्टिनेंट बनना। लेकिन इसके लिए उसकी पढ़ाई काफी नहीं थी। उन्होंने सेना में नौकरी के साथ अपनी पढ़ाई भी जारी रखी और अब सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर कमीशन प्राप्त कर अपने बचपन के सपने को साकार किया है।





हाल ही में रवि डागर के माता-पिता ने उनके कंधो पर स्टार लगाकर उन्हें भविष्य में तरक्की का आशीर्वाद दिया। रवि का बचपन से एक ही सपना था कि वह सेना में भर्ती होकर देश सेवा करे। विपरीत परिस्थितियों से लड़ते हुए मार्च 2008 में आर्मी में ज्वाईन किया। लेकिन उनका सपना आगे बढ़ने का था। उन्होंने पढ़ाई जारी रखी और वर्ष 2013 में ने एसएसबी साक्षात्कार परीक्षा को उ‌र्त्तीण कर अपने सपनों को उड़ान दी। इसके बाद वह लगातार चार साल की सख्त ट्रेनिंग के लिए भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) देहरादून गए।

इसी दौरान रवि ने ग्रेजुऐशन में बीएससी की परीक्षा पास की। इसके एक साल बाद दिसंबर 2017 में भारतीय सैन्य अकादमी से आर्मी सर्विस कोर में कमीशन प्राप्त किया।  रवि के मुताबिक वह इस दिन का चार साल से इंतज़ार कर रहे थे जब उनके कन्धों पर स्टार लगाए जाएंगे।  रवि के माता पिता को उनकी सफलता पर गर्व है। रवि कहते हैं कि यह उनकी  जिन्दगी का सबसे यादगार लम्हा था जिसे अभी तक उन्होंने केवल अपने सपनो में ही जिया था।

Comments

Most Popular

To Top