Army

AFSPA पर पुनर्विचार करने की जरुरत नहीं : जनरल बिपिन रावत

नई दिल्ली। आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने जम्मु-कश्मीर तथा देश के पूर्वोत्तर राज्यों में लागू अफस्पा यानी आर्म्ड फोर्स स्पेशल पावर एक्ट पर पुनर्विचार की संभावना पर कहा है की इस पर पुनर्विचार करने का समय नहीं है। सेना प्रमुख के मुताबिक अभी वह समय नहीं आया है कि अफ्स्पा पर दोबारा विचार किया जाए या इसके प्रावधानको हल्का बनाया जाए। इससे पहले रिपोर्टों में कहा गया था कि सरकार अफ्स्पा को ज्यादा मानवीय बनाने पर फिर से विचार कर रही है।





जानकारी दें दें कि एक्ट अफ्स्पा सेना को जम्मू कश्मीर तथा पूर्वोत्तर राज्यों में सुरक्षा बालों को विशेष अधिकार देता है। इस एक्ट को लेकर काफी  विवाद होते रहे हैं। इसके दुरूपयोग का आरोप लगाकर इसे कई बार हटाने की मांग की जाती रही है। इसके अलावा इस एक्ट में संशोधन कर इसे हल्का बनाने तथा इसका दुरूपयोग किये जाने की मांग की जा रही है।

कानून के दायरे में हों ऑपरेशंस

लेकिन जनरल रावत के इस बयान से साफ़ है कि फिलहाल अफस्पा हुबहू जारी रहेगा। जनरल रावत ने कहा  जम्मू कश्मीर में तैनाती के दौरान सेना काफी सावधानी बरत रही है जिससे मानवाधिकारों की रक्षा की जा सके’। यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार अफ्स्पा को हल्का करने पर पुनर्विचार कर रही है। उन्होंने कहा मुझे नहीं लगता कि अभी वह समय आया है जब अफ्स्पा पर फिर से विचार किया जाए।

उन्होंने आगे कहा,हालांकि अफ्स्पा में कुछ कड़े प्रावधान हैं पर सेना अतिरिक्त नुकसान को लेकर चिंतित है और यह सुनिश्चित किया जाता है कि ऑपरेशंस कानून के दायरे में ही हों तथा स्थानीय लोगों को असुविधा न हो। आर्मी चीफ ने यह भी कहा कि अफ्स्फा के तहत जितनी सख्ती बरती जाती है वैसा तो हमने कभी किया ही नहीं’।

Comments

Most Popular

To Top