DEFENCE

जैविक/परमाणु खतरों से लड़ने को NDRF दिल्ली में तैनात

NDRF

नई दिल्ली। बड़े खतरों का शीघ्रता से मुकाबला करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में परमाणु और जैविक कॉम्बेट गियर से लैस एक विशिष्ट एनडीआरएफ टीम तैनात की गई है। दिल्ली में और इसके आसपास के इलाकों में आपदा रोधी प्रोफाइल और उच्च भूकंप गतिविधि को ध्यान में रखते हुए एक अन्य राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की एक विशेष टीम, 24×7 ऑपरेशन के लिए तैयार है। इस टीम का मुख्यालय, दक्षिण पश्चिम दिल्ली के आर.के. पुरम इलाके में है। 45 सदस्यीय टीम भूकंप जैसी किसी भी आपदा या दिल्ली में होने वाले बड़ी जैविक दुर्घटना का शीघ्रता से मुकाबला करेगी।





विशेष सुरक्षात्मक तंत्र नही था उपलब्ध

गृह मंत्रालय और एनडीआरएफ के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि रासायनिक, जैविक, रेडियोलॉजिकल और परमाणु यानि सीबीआरएन-आपदाओं से जुड़े लगभग 30 जवानों की एक टीम को इंडिया गेट क्षेत्र के पास कुछ समय पहले तैनात किया गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आतंकवाद और सुरक्षा से संबंधित अन्य खतरों के खिलाफ सभी सुरक्षात्मक तंत्र हैं, लेकिन सीबीआरएन-खतरों और आपदाओं के खिलाफ एक विशेष सुरक्षात्मक ढाल और प्रतिक्रिया तंत्र उपलब्ध नहीं हैं।”

शहरी विकास मंत्रालय को किया भूमि देने का अनुरोध

45 सदस्यीय टीम किसी भी आपदा जैसी भूकंप या दिल्ली में होने वाली किसी भी बड़ी दुर्घटना का तुरंत जवाब देगी, दोनों टीमें अपने वाहन व आवश्यक उपकरणों के साथ तैनात होंगी, एक टीम को आर.के. पुरम और दूसरी टीम को इंडिया गेट के पास तैनात किया गया है। रासायनिक या रेडियोलॉजिकल रिसाव या हमले की घटनाओं का सामना करने वाली एक तीसरी टीम भी इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (आईजीआईए) पर तैनात की गई है। एनडीआरएफ के महानिदेशक आर.के. पचनन्दा ने शहरी विकास मंत्रालय को विशेष टीम को दिल्ली में कहीं भूमि देने के लिए अनुरोध किया था लेकिन मंत्रालय ने फिलहाल आर.के. पुरम में एक छोटा प्लाट उपलब्ध कराया है।

Comments

Most Popular

To Top