Forces

नौसेना के नये डिप्टी चीफ ने संभाला कार्यभार

वाइस एडमिरल  एम एस पवार

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना में डिप्टी चीफ और पश्चिमी नौसैनिक कमांड के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ के दो अहम पदों का दायित्व सम्भालने  की घोषणा नौसेना मुख्यालय ने की है।  वाइस एडमिरल एम एस पवार को नौसेना का डिप्टी चीफ (DCNS) नियुक्त किया गया है जब कि वाइस एडमिरल अजीत कुमार को पश्चिमी नौसैनिक कमांड का फ्लैग ऑफिसर कमाडिंग इन चीफ नियुक्त किया गया है।





वाइस एडमिरल पवार कोरुकांडा के सैनिक स्कूल के स्नातक  हैं और वह नेशनल डिफेंस एकेडमी खडकवासला पुणे के 60वें कोर्स के कैडेट रहे हैं। उन्होंने नौसेना में एक जुलाई, 1962 को कमीशन ग्रहण किया। ट्रेनिंग के दौरान उन्हें सर्वेश्रेष्ठ आल राउंड कैडेट घोषित किया गया था। उन्होंने नेवीगेशन औऱ डायरेक्शन में विशेषज्ञता हासिल की है।

विभिन्न् पोतों पर उनका 25 सालों का उल्लेखनीय सेवा काल रहा है। श्रीलंका में ‘ऑपरेशन पवन’ के दौरान वह युद्धपोत आईएनएस मगर पर नेवीगेशऩ ऑफिसर रहे हैं। करगिल युद्ध के दौरान वह पश्चिमी  बेड़े में  फ्लीट नेवीगेटिंग आफीसर रहे हैं। वह भारतीय नौसैनिक पोत आईएनएस नाशक, आईएनएस कुठार, आईएनएस तलवार पर तैनात रहे हैं। वह मारीशस के कोस्ट गार्ड पोत पर भी तैनात रहे है।  साल 2003 के दौरान वह मारीशस कोस्ट गार्ड के कमांडेंट रहे हैं।

वह रॉयल नेवल स्टाफ कॉलेज और कॉलेज ऑफ नेवल वारफेयर, मुम्बई  के स्नातक रहे हैं।

दूसरी ओर  मुम्बई में वाइस एडमिरल अजीत कुमार ने पश्चिमी नौसैनिक कमांड का फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ का दायित्व सम्भाल लिया। वह एक जुलाई, 1981 को भारतीय नौसेना में भर्ती हुए थे। वह सैनिक स्कूल कजाकुटम और नेशनल डिफेंस एकेडमी के स्नातक रहे हैं। उन्होंने भारतीय नौसेना के  अग्रणी युद्पोतों पर अपनी सेवाएं दी हैं और उनकी कमान सम्भाली है। वह पश्चिमी नौसैनिक कमांड के चीफ स्टाफ ऑफिसर भी रहे हैं।

Comments

Most Popular

To Top