Navy

‘वरुण अभ्यास’ का समुद्री चरण पूरा हुआ, अब अगला जिबूती में

अभ्यास वरुण

नई दिल्ली। भारत और फ्रांस के बीच इस महीने के शुरू से चल रहा साझा नौसैनिक अभ्यास वरुण का भारतीय तट पर चलने वाला पहला चरण गोवा के तट पर सम्पन्न हो गया। इस नौसैनिक अभ्यास का दूसरा चरण अफ्रीकी  देश जिबूती के समुद्री इलाके में मई के अंतिम सप्ताह  में होगा। गौरतलब है कि जिबूती के समुद्र तट पर चीन और अमेरिका के अलावा फ्रांस का भी एक नौसैनिक अड्डा है।





इस अभ्यास का समापन दोनों नौसेनाओं के युद्धपोतों और लड़ाकू विमानो  और हेलिकॉप्टरों के बीच निकट के समुद्री पैंतरों के साथ हुआ। दोनों नौसेनाओं के आला अधिकारियों ने फ्रांसीसी विमानवाहक पोत ‘चार्ल्स द गाल’ पर इकट्ठे हुए और उन्हें साझा अभ्यास के बारे में जानकारी दी गई। बाद में दोनों नौसेनाओं के प्लानिंग स्टाफ के बीच भी बैठक हुई।

अभ्यास का समापन फ्रांसीसी नौसेना के चार रफाल लड़ाकू विमानों, पांच मिग-29 के समुद्री लड़ाकू विमानों और एक हाकआई टोही विमान की आकर्षक फ्लाई पास्ट के साथ हुआ। इसके साथ ही दोनों नौसेनाओं ने एक दूसरे के नौसैनिकों के एक दूसरे के पोतों पर ट्रांसफर के लिये क्रास डेक आपरेशन किये।

समुद्री चरण के अभ्यास के दौरान फ्रांसीसी विमानवाहक पोत चार्ल्स द गाल, विध्वंसक पोत प्रोवेंस, युद्धपोत लातोश त्रेवले, फोर्बिन और तेलवाहक पोत मार्ने के साथ एक  परमाणु पनडुब्बी भारतीय युद्धपोतों के साथ भाग लिया।  इनके साथ भारतीय युद्धपोत चेन्नै, मुम्बई, तरकश औऱ तेलवाहक पोत दीपक औऱ एक पनडुब्बी को अभ्यास में उतारा गया।

समुद्री चरण के अभ्यास में दोनों नौसेनाएं आपसी समुद्री तालमेल बेहतर करने के  इरादे से साझा अभ्यास किया। इस दौरान हवा से हवा में लड़ाकू अभ्यास, हवाई सुरक्षा अभ्यास, पनडुब्बी नाशक अभ्यास के अलावा सतही युद्ध अभ्यास भी हुए।

दूसरे चरण के अभ्यास में मई के अंतिम सप्ताह में जिबूती के समुद्री इलाके में दोनों नौसेनाएं पनडुब्बी नाशक युद्धाभ्यास करेंगे।

Comments

Most Popular

To Top