Navy

Special Report: समुद्र के रास्ते आतंकवाद का खतरा एक चुनौती

एडमिरल सुनील लांबा

नई दिल्ली। नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने कहा है कि समुद्र के रास्ते आतंकवादी खतरा वास्तविक चुनौती है और नौसेना इसके मुकाबले के लिये पूरी तरह तैयार है।





यहां हिदं प्रशांत इलाके पर आयोजित एक गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए नौसेना प्रमुख ने कहा कि  भारत इस राज्य प्रोयोजित आतंकवाद के भारी खतरे का सामना कर रहा है।  उन्होंने कहा कि हमने  देखा है कि किस तरह भारतीय जम्मू-कश्मीर के इलाके में भयानक आतंकवादी हमला हुआ। यह हमला भारत को अस्थिर करने के इरादे से करवाया गया। एडमिरल लांबा ने कहा कि हाल के सालों में हिंद प्रशांत इलाके में आतंकवाद की कई वारदातें हमने देखी हैं। इस खतरे से कुछ ही देश अभी तक बच सके हैं। आतंकवाद ने अब वैश्विक रूप धारण कर लिया है। इससे खतरे का दायरा और बढ़ गया है।

नौसेना प्रमुख ने हिंद प्रशांत इलाके में नियम आधारित व्यवस्था के बारे में कहा कि हम सभी साझेदार देशों के साथ यह हासिल करना चाहते हैं ताकि इस इलाके में देशों की सम्प्रभुता बरकरार रहे और इसका सम्मान हो और छोटे या बड़े सभी देशों को समान नजरिये से देखा जाए। हम सभी साझेदार देशों के साथ समान मूल्यों और हितों के आधार पर काम करना चाहते हैं ताकि एक स्थिर औऱ शांतिपूर्ण इलाका सुनिश्चित हो सके।

एडमिरल लांबा ने कहा कि हिंद प्रशांत इलाका सम्भावनाओं से भरा है लेकिन इसका भविष्य अनिश्चितता के भंवर में फंसा है। देशों के बीच बढ़ती होड़ यदि सैद्धांतिक आधार पर चले तो इससे पूरे क्षेत्र के लिये सम्भावनाओं के द्वार  खुलेंगे और पूरी दुनिया को फायदा होगा। लेकिन उन्होंने खेद से कहा कि फिलहाल ऐसा  होता नहीं लगता है।

उन्होंने कहा कि वित्तीय मदद, धीरे-धीरे प्रादेशिक विस्तार, सैन्य आक्रामकता , वैधानिक शक , और सूचना सक्रियता आदि की वजह से पूरा इलाका अस्थिरता में फंसा हुआ है। उन्होंने कहा कि हमने हाल में देखा है कि छोटे देशों को ऐसे प्रोजेक्टों के लिये मदद दी गई है जो वित्तीय नजर से लाभजनक नहीं हो सकते और जहां स्थानीय लोगों की सीमित भागीदारी होती है और उस देश को मामूली लाभ भी नहीं होते। साफ है कि इस तरह के प्रोजेक्ट राजनीतिक और सामरिक नजरिये से चलाए जाते हैं। इसलिये जरूरी है कि वित्तीय मदद चाहने वाले देशों को ऐसा माहौल बनाना चाहिये जहां देशों के पास कई विकल्प खुले हों।

Comments

Most Popular

To Top