Navy

Special Report: भारतीय युद्धपोत तरकश पहुंचा मिस्र

आईएनएस तरकश

नई दिल्ली। मिस्र के साथ अपने रिश्ते बेहतर बनाने की प्रतिबद्धता दिखाते हुए भारत ने अपनी नौसेना का पोत आईएनएस तरकश  मिस्र के अलेकजेंडिया नौसैनिक बंदरगाह पर  28 जून को भेजा। भारतीय पोत वहां तीन दिनों तक रहेगा। आईएनएस तरकश भारतीय नौसेना के अत्याधुनिक युद्धपोतों में से है जो विभिन्न किस्म की शस्त्र प्रणालियों से लैस है।





इस दौरे में मिस्र औऱ भारत की नौसेनाओं के बीच पेशेवर आदान-प्रदान होगा।  यहां नौसेना के प्रवक्ता के मुताबिक भारतीय पोत के मिस्र दौरे से दोनों नौसेनाओं के बीच सहयोग का रिश्ता और मजबूत होगा।  इस दौरान मिस्र के नौसैनिक अधिकारी तरकश पोत का दौरा करेंगे और भारतीय नौसैनिक अधिकारियो के साथ खेल और सांस्कृतिक कार्यक्रम करेंगे।  इससे दोनों देशों के नौसैनिकों के बीच आपसी मेलजोल औऱ सद्भाव बढ़ेगा।

भारत और मिस्र दुनिया की दो सबसे पुरानी सभ्यताएं हैं  और दोनों देशों के बीच कई क्षेत्रों में सौहार्दूपूर्ण रिश्ते चल रहे हैं। मिस्र की  भौगोलिक स्थिति काफी अहमियत रखती है। यह देश अफ्रीका, एशिया औऱ यूरोप के चौराहे पर स्थित है औऱ इस इलाके से कई समुद्री व्यापारिक मार्ग गुजरते हैं। जो लाल सागर से होकर भू-मध्यसागर तक मिस्र की स्वेज नहर तक जाते हैं। मिस्र के लिये भारतीय़ पोत का मौजूदा दौरा यह दर्शाता है कि भारत इस इलाके में अपनी सैन्य ताकत की शांतिपूर्ण मौजूदगी चाहता है।

आईएनएस तरकश की कमान कैप्टन सतीश  वासुदेव के हाथ मे है। यह पोत नौसेना की पश्चिमी कमान का हिस्सा है।

Comments

Most Popular

To Top