Navy

स्पेशल रिपोर्ट: रूस से दस कामोव-31 हेलिकॉप्टर डील को मिली मंजूरी

कामोव-31 हेलिकॉप्टर

नई दिल्ली।  बड़े विध्वंसक पोतों औऱ विमानवाहक पोतों को  हवाई खतरों से बचाने के लिये भारतीय रक्षा मंत्रालय ने नौसेना के लिये दस कामोव- 31 टोही हेलिकॉप्टरों की खरीद के प्रस्ताव को मंजूर कर लिया है। रूस से ये हेलिकॉपटर 52 करोड़  डालर यानी करीब 36 सौ करोड़ रुपये में खरीदे जाएंगे।





कामोव-31 हेलीकाप्टर  पूर्व चेतावनी देने वाले हेलीकाप्टर हैं जो अपने पोतों को दुश्मन के किसी भी हवाई या मिसाइली आक्रमण से बचाने में प्रभावी भूमिका निभाएंगे।  अपने युद्धपोतों को दुश्मन के हवाई या मिसाइली हमलों से बचाने के लिये ऐसे टोही हेलीकाप्टरों के नहीं होने से नौसैनिक हलकों में चिंता थी।

ये हेलिकॉप्टर किसी विमानवाहक पोत पर तैनात हो कर इसके आसपास दुश्मन की किसी भी मौजूदगी की चेतावनी देंगे और उनके खिलाफ अग्रिम कार्रवाई कर उन्हें बेअसर करने की कोशिश करेंगे।  ये हेलिकॉप्टर पनडुब्बी नाशक भूमिका में भी काम आएंगे और इनसे समुद्री इलाकों की नियमित टोह ली जाएगी जिससे दुश्मन की पनडुब्बी औऱ अन्य नौसैनिक गतिविधियों पर नजर रखी जा सकेगी।

यहां सूत्रों ने बताया कि दस कामोव-31 हेलिकॉप्टरों के लिये सौदा वार्ता पूरी हो जाने के बाद सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक में इसकी मंजूरी के लिये पेश किया जाएगा।

इन हेलिकॉप्टरों के भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल होने से भारत की समुद्री चौकसी औऱ रक्षा क्षमता में भारी इजाफा होगा।

Comments

Most Popular

To Top